जांजगीर-चांपा। (नईदुनिया न्यूज)। ग्राम केरा के वार्ड 3 के पंच और ब्लाक कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष संतोष कोशले के घर से पुलिस ने 50 लीटर महुआ शराब जब्त किया और उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मामला नवागढ़ थाना का है।

पुलिस केअनुसार नवागढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम केरा निवासी संतोष कोशले घर में महुआ शराब बेचता था। इसकी सूचना मिलने पर पुलिस ने शुक्रवार की सुबह उसके घर मेंदबिश दी और उसके कब्जे से 50 लीटर महुआ शराब जब्त किया। पुलिस ने उसके खिलाफ 34 - 2 और 59 क आबकारी एक्ट के तहत अपराध्ा दर्ज किया और उसे गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसे न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया। ज्ञात हो कि महुआ शराब बेचने वाला संतोष कोशले गांव के वार्ड 3 का पंच है और साथ ही ब्लाक कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग का अध्यक्ष भी है। आए दिन उसके खिलाफ कई शिकायतें थाने में मिल रही थी।

होगी कार्रवाई

कांग्रेस अनुसूचित विभाग के वरिष्ठ नेता गजानंद जांगड़े नेकहाकि समाज और कानून विरोध्ाी काम करनेवालेलोगों की पार्टीमेंकोई जगह नहीं है। मामलेकी पूरी जानकारी वरिष्ठ नेताओं को दी जाएगी। उनके निर्देशानुसार कार्रवाई होगी। उसेआमजनोंव पार्टीकी सेवा केलिए जिम्मेदारी दी गईथी। मगर इस तरह केकार्य से पार्टीकी छवि खराब होती है।

0-0

दिव्यांग युवती से दुष्कर्म करने वाले युवक को दस साल की कैद

जांजगीर-चांपा। (नईदुनिया न्यूज)। शादी का झांसा देकर दिव्यांग युवती से दुष्कर्म करने वाले आरोपित को अपर सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रेक कोर्ट खिलावन राम रीगरी ने 10 वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई ।

अभियोजन के अनुसार शिवरीनारायण थाना क्षेत्र के एक गांव की एक युवती दोनों पैर और एक हाथ से दिव्यांग है। 2 मार्च 2020 को उसके घर ग्राम लोहरसी थाना पचपेड़ी जिला बिलासपुर निवासी चंद्रकांत गोंड आया और और युवती से शादी करने की बात कही। जिससे वह युवक के झांसे में आ गया। युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया और 17 मार्च 2020 को युवती को छोड़कर भाग गया। युवती ने उससे संपर्क करने का प्रयास किया मगर युवक ने अपना मोबाइल बंद कर दिया । तब फिर पीड़िता ने 24 अप्रैल 2021 को शिवरीनारायण थाने में इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने चंद्रकांत गोंड के खिलाफ अपराध दर्ज किया और उसे गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। मामलेकी सुनवाई कर विशेष न्यायाधीश फास्ट ट्रेक कोर्ट के न्यायाधीश खिलावन राम रिगरी ने चंद्रकांत गोंड पिता किशन लाल को भादवि की धारा 376 (2) ढ के लिए 10 वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई और एक हजार रुपये अर्थदंड से दंडित किया । अर्थदंड नहीं पटाने पर एक माह का अतिरिक्त सश्रम कारावास भुगताए जाने का आदेश दिया गया। अभियोजन की ओर से अपर लोक अभियोजक बालकृष्ण मिश्रा ने पैरवी की।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close