पामगढ़ (नईदुनिया न्यूज)। ग्राम बारगांव में हसदेव बांगो मुख्य नहर का पार फूटने से लगभग दो किलो मीटर तक नहर का पानी फैल गया इससे 100 एकड़ खेत में लगी फसल डूब गई। वहीं दो ग्रामीणों के घर में भी पानी घुस गया। सूचना पर अधिकारी मौके पर पहुंचे और पार को सुधारने का काम भी शुरू हुआ ।

पामगढ़ ब्लाक के ग्राम बारगांव में सोमवार की सुबह तड़के 4 बजे हसदेव बांगो परियोजना के मुख्य नहर का पार क्षतिग्रस्त हो गया। नहर में तेज धार होने के कारण पानी खेतों में घूस गया। लगभग 100 एकड़ खेत जलमग्न हो गया। खेतों में धान की फसल लगी है। इसकोनुकसान भी हुआ है। 35 से 40 किसान इससे प्रभावित हुए हैं। इसके अलावा कई किसानों के घरों में भी पानी घूस गया। रविवार की रात तेज वर्षा होने के कारण नहर पार क्षतिग्रस्त हुआ है। पार पहले से कमजोर था या नहीं इसकी रिपोटिंग मैदानी अमले ने विभाग में नहीं की थी। ग्रामीणों का कहना है कि पार पहले से ही कमजोर रहा होगा। मगर सिंचाई विभाग के टाइम कीपर और सब इंजीनियर ने इस पर ध्यान नहीं दिया जिसके चलते अचानक पार फूट गया और खेत जल मग्न हो गए। इससे किसानों को लाखों रूपए का नुकसान हुआ है। इसकी सूचना मिलने पर पामगढ़ एसडीएम बीएस मरकाम, जल संसाधन विभाग के अधिकारी और तहसीलदार व अन्य राजस्व अधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचे और मुआयना किया। एसडीएम बीएस मरकाम ने बताया कि सिंचाई विभाग के अधिकारियों के साथ मौके का मुआयना किया गया। सिंचाई विभाग द्वारा यहां मरम्मत का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। फसल सहित जो भी नुकसान हुआ है उसकी रिपोर्ट बनाई जा रही है। नहर के पानी से प्रभावितों को राहत भी पहुंचाई जा रही है। यहाँ 2 किसानों के घर में पानी घुस जाने पर उनके परिवार को राशन सहित अन्य सामग्री दी गई है।

कलेक्टर ने दिए शीघ्र मरम्मत के निर्देश

क्षतिग्रस्त हुए नहर से खेत और घरों में पानी घुसने से होने वाले नुकसान की जांच और पानी से ग्रामीणों के बचाव के लिए कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा के निर्देश पर एसडीएम सहित जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने मौके पर निरीक्षण किया। कलेक्टर ने नहर के क्षतिग्रस्त हिस्से से पानी के बहाव को रोकने शीघ्रता से मरम्मत कार्य करने और इससे हुए नुकसान की जांच कर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए हैं। सिंचाई विभाग द्वारा पानी के तेज बहाव को नियंत्रित कर नहर के क्षतिग्रस्त हिस्से की मरम्मत की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close