जांजगीर-चांपा। (नईदुनिया न्यूज)। वन नेशन वन कार्ड योजना के तहत ई-पास मशीन में शुरूआती दौर में ही समस्याएं आने लगी है। 1 सितंबर से इसे जांजगीर समेत जिले के सभी शहरी क्षेत्रों के 49 सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकानों में शुरु किया गया है। इन दुकानों में ई-पास मशीनें लगाई गई है। इसी के जरिए राशन का वितरण किया जा रहा है, मगर दुकानों में आधार कार्ड की एंट्री नहीं होने की बात कहकर कार्डधारियों को खाद्य कार्यालय भेजा जा रहा है। इससे वे परेशान हैं, जबकि पूर्व में आधार कार्ड की एंट्री कराई जा चुकी है।

ई-पास मशीन हैदराबाद से यहां आई है जिसमें जिले के हितग्राहियों का आधार लिंक नहीं है। ऐसे में ई-पास मशीन में जिले के हितग्राहियों के नाम नहीं दिखा रहा है। जिसके कारण हितग्राहियों को शुरुआती दौर में ही परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इधर सर्वर की ऐसी स्थिति को देखते हुए खाद्य विभाग ने मैनुअली यानी पुराने पद्घति से ही राशन वितरण करने का आदेश जारी किया है, मगर इस मशीन में राशन कार्ड धारियों व सदस्यों का आधार नंबर नहीं होने से परेशानी बढ़ गई है। इस मशीन में आधार को दुकानदारों को ही दर्ज करना है मगर वे अपनी बला टालने के लिए कार्डधारियों को जिला खाद्य अधिकारी कार्यालय का रास्ता दिखा रहे हैं। साथ ही उन्हें हिदायत दी जा रही है कि अगले माह तक अगर मशीन में आधार की एंट्री नहीं हुई तो उन्हें राशन नहीं मिलेगा। पूर्व में आधार कार्ड की एंट्री करा चुके लोगों को बार-बार यही काम कराना भी बोझ लग रहा है। ऐसे में ज्यादा समय लगने की स्थिति में राशन मिलने से हितग्राही वंचित न रह जाए इसीलिए मैनुअली राशन बांटने के निर्देश हैं। शहरी क्षेत्र के सभी पीडीएस दुकानों में ये ई-पास मशीनें दी जा चुकी है। साथ ही संचालकों को प्रशिक्षण भी दिया गया है ताकि नए सिस्टम से हितग्राहियों को राशन वितरण किया जा सके। इस मशीन में आधार लिंक करने का आप्शन भी है, मगर अधिकांश दुकानदार यह काम नहीं करना चाहते। इधर खाद्य कार्यालय में भी आधार नंबर जुड़वाने भीड़ लग रही है। इस भीड़ से विभाग व दुकानों में कमाई का एक नया जरिया भी शुरू हो गया है। वहीं कार्डधारियों की परेशानी बढ़ गई है। खाद्य विभाग के अफसरों का कहना है कि नई तकनीक होने की वजह से अभी शुरुआती कुछ दिनों तक इसे ट्रायल की तरह देखा जा रहा है कि किसी तरह की समस्या तो नहीं आ रही है। ई -पास मशीन में कुछ स्थानों की दुकानों में समस्या आ रही है जिसे तकनीकी एक्सपर्ट सुधारने में लगे हुए हैं। इसीलिए राशन वितरण के लिए पहले वाला भी विकल्प चालू रखा गया है। वन नेशन वन कार्ड केंद्र सरकार की योजना है। इसके चालू होने से हितग्राही जहां रहते हैं वे वहीं से ही राशन ले सकेंगे। दूसरे प्रदेश के लोग अगर यहां रहते हैं तो वे भी यहां राशन उठा सकेंगे। बस राशनकार्ड धारक का आधार कार्ड विभाग के सर्वर के माध्यम से लिंक होना जरुरी है।

6 प्रतिशत लोगों का नहीं हुआ है आधार सत्यापन

वन नेशन वन कार्ड स्कीम तभी सौ फीसदी सफल साबित होगी जब राशनकार्ड में दर्ज हर एक सदस्य का आधार कार्ड लिंक हो। जिले में अभी 6 प्रतिशत सदस्यों का आधार कार्ड सत्यापित होना शेष है। 92 प्रतिशत सदस्यों का आधार सत्यापित हो चुका है। जिले में कुल 4 लाख 73 हजार 329 राशनकार्डों में 17 लाख 9 हजार 853 सदस्य दर्ज हैं। ई-पास सिस्टम से राशन लेने के लिए हितग्राहियों से नए सिरे से दस्तावेज मांगे जा रहे है। राशनकार्डधारी बताते हैं कि दुकानों में राशन लेने जा रहे हैं तो फिर से आधार कार्ड, राशनकार्ड की फोटो कापी जमा कराई जा रही है। परिवार के प्रत्येक सदस्यों की जानकारी के साथ दस्तावेज मांगे जो रहे हैं। इसके बगैर राशन नहीं मिल रहा है।

ऐसे काम करता है ई-पास मशीन

इलेक्ट्रानिक पाइंट आफ सेल डिजिटिल सिस्टम (ई-पास) ऐसी मशीन है जो इंटरनेट के माध्यम से एक ऐसे सिस्टम से जुड़ा है जिसमें देशभर के सार्वजनिक वितरण प्रणाली और उपभोक्ताओं के आधार व राशनकार्ड नंबर लिंक है। इससे कोई भी व्यक्ति किसी भी राज्य में अपने राशनकार्ड से राशन ले सकेगा।

शहरी क्षेत्रों में राशनकार्ड व हितग्राही

निकाय राशनकार्ड हितग्राही

नया बाराद्वार 23628260

बलौदा 3710 12904

शिवरीनारायण 2293 8702

चांपा 11550 41679

अड़भार 2118 7919

सारागांव 17906948

जांजगीर-नैला 11072 38335

राहौद 17406689

नवागढ़ 2142 8419

सक्ती 5711 19874

अकलतरा 5918 21238

खरौद 2833 10072

जैजैपुर 22408516

चंद्रपुर 2016 7363

डभरा 2224 7475

'' ई - पास मशीन में आधार नंबर जोड़ने की सुविधा राशन दुकानों में भी है। अगर दुकानों में यह कार्य नहीं हो रहा है तो इसकी जानकारी ली जाएगी। खाद्य विभाग के कार्यालय में भी आधार नंबर का सत्यापन किया जा रहा है। हालांकि आधार नहीं जुड़ने पर किसी को राशन से वंचित नहीं किया जा रहा है।

कौशल साहू, सहायक जिला खाद्य अधिकारी

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local