राहौद (नईदुनिया न्यूज)। बेसहारा मवेशियों की बड़ी संख्या के कारण राहौद नगर के मुख्य मार्ग पर यातायात बाधित हो रहा है। वहीं दुर्घटना का भय भी बना हुआ है। बरसात में बेसहारा मवेशी सड़क पर ही दिन रात डेरा डाले रहते हैं। जिससे आने-जाने वालों को परेशानी हो रही है। बीच सड़क में मवेशियों की मौजूदगी के कारण आएदिन दुर्घटना हो रही है। सुबह से लेकर रात तक मवेशियों को नगर के सभी मार्गों में देखा जा सकता है।

नगर पंचायत में गोठान पूर्ण नहीं होने का खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है। सड़क पर बड़ी संख्या में मवेशी नजर आते हैं। मगर इससे किसी को सरोकार नहीं है। तेज रफ्तार वाहन मवेशियों को ठोकर मार कर चले जाते हैं। जबकि लोग भी दुर्घटना के शिकार होते हैं। ये मवेशी फसलों को भी नुकसान पहुंचा रहे हैं। फसल लगने के बाद ग्रामीण क्षेत्रों में पशु पालक अपने पशुओं को बांधकर घरों में रखते हैं और उनके चारे आदि का प्रबंध करते हैं। इसके अलावा कई जगहों में सामूहिक रूप से चरवाहों के माध्यम से भी मवेशियों को चरवाया जाता है। लेकिन शहर में इस तरह की व्यवस्था नहीं है। शहर के पशु पालक दुधारू गाय अथवा भैंस को ही अपने घर में रखते हैं एवं शेष मवेशियों को उनके द्वारा खुला ही छोड़ दिया जाता है। ये पशु शहर व आस-पास सड़कों पर ही मंडराते रहते हैं, जिनकी उपयोगिता नहीं होने के कारण पशु पालक भी घर वापस ले जाने में रूचि नहीं दिखाते। नगर में जनप्रतिनिधियों ने फसलों की सुरक्षा के लिए किसान समिति की बैठक के लिए मुनादी करवाया था। जिसमें नगर के किसान शामिल नहीं हुए। दूसरी बार पिᆬर बैठक की कवायद की गई ताकि मवेशियों को नियंत्रित किया जा सके।

कांजी हाउस बंद और गोठान भी नहीं

पूर्व में नगर पंचायत के द्वारा काऊ कैचर के माध्यम से बेसहारा मवेशियों को कांजी हाऊस तक पहुंचाया जाता था। कुछ समय के लिए बीते वर्ष चरवाहे की भी व्यवस्था की गई थी, लेकिन इस वर्ष नगर पंचायत द्वारा मवेशियों को लेकर किसी तरह के इंतजाम नहीं किए जा रहे हैं। यही कारण है कि दिनों दिन शहर के सभी मार्गों में मवेशियों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close