जांजगीर-चांपा । कक्षा सातवीं की छात्रा से दुष्कर्म करने वाले आरोपित को पुलिस ने गिरफ्तार कर तीन दिन में ही विवेचना पूर्ण कर चालान न्यायालय में पेश किया। जिले में दुष्कर्म के मामले में सबसे कम अवधि में चालान इसी प्रकरण में पेश हुआ है।

बलौदा थाना क्षेत्र में कक्षा सातवीं की छात्रा 21 जनवरी के शाम अपने किसी रिश्तेदार के घर जाने के लिए निकली थी। इसी बीच ग्राम ठड़गाबहरा निवासी किशन बंजारे उसे बाइक में बैठाकर सूनसान जगह पर ले गया और जान से मारने की धमकी देकर खेत मेंउससे दुष्कर्म किया। आरोपित आदतन गुंडा बदमाश भी है। बालिका ने इसकी जानकारी स्वजन को दी और उसके साथ थाना पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराया गया। पुलिस ने किशन बंजारे के विरूद्ध भादवि की धारा 376, 506, 363 भादवि 4 पाक्सो एक्ट कायम कर विवेचना में लिया गया था। प्रकरण की गंभीरता को ध्यान में रखते हुये आरोपित किशन बंजारे को पुलिस ने 22 जनवरी को ही गिरफ्तार किया और जेल भेज दिया। एसपी विजय अग्रवाल ने इसका चालान शीघ्र ही न्यायालय में पेश करने को कहा जिस पर थाना प्रभारी एसआई गोपाल सतपथी ने विवेचना पूरी की और अभियोग पत्र तैयार कर 72 घंटे में चालान न्यायालय में पेश किया। जिले में दुष्कर्म के मामले में सबसे कम समय में इसी केस में चालान पेश हुआ।

0-0

नाबालिग से छेड़छाड़ : युवक को तीन साल की कैद

जांजगीर-चांपा । नाबालिग को निर्वस्त्र होने के लिए विवश करने वाले आरोपित को विशेष न्यायाधीश पाक्सो खिलावन राम रिगरी ने 3 वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई और 2 हजार रूपए अर्थदंड से दंडित किया।

अभियोजन के अनुसार जांजगीर थाना क्षेत्र की एक नाबालिग लड़की के माता-पिता हैदराबाद कमाने खाने गए थे। पीड़िता व उसकी बड़ी बहन अपनी बड़ी मां के देखरेख में रह रही थी। 28 मार्च 2022 को धुरकोट निवासी राकेश प्रधान पिता बाबूलाल प्रधान उनके गांव आया और पीड़िता को अपने घर ले गया । उसके बाद 31 मार्च को पीड़िता को राकेश प्रधान वापस छोड़ने उसके गांव की ओर जा रहा था तब उसने शाम 7 बजे अपनी बाइक ग्राम सरखों के शराब भटठी के पास रोका और उसे खेत में लेजाकर उससे दुष्कर्म करने का प्रयास किया। पीड़िता जब चिल्लाई और आसपास के ग्रामीणों को इसकी जानकारी दी तो वे वहां एकत्र हुए और उसके गांव के सरपंच को भी इसकी सूचना दी गई। तब उसके गांव के एक व्यक्ति उसे लेने आया। इसी बीच पीड़िता की तबीयत खराब हो गईऔर उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया उसके माता-पिता को भी इसकी सूचना दी गई और 2 अप्रैल 2022 की रात वे भी यहां पहुंचे। घटना की रिपोर्ट नैला चौकी में शून्य पर धारा 354 के तहत अपराध कायम किया गया और डायरी जांजगीर थाना भेजी गई। पुलिस ने युवक को गिरफ्तार कर अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया। विशेष न्यायाधीश पाक्सो द्वारा मामले की सुनवाई कर नाबालिग के साथ घृणित अपराध को गंभीर बताते हुए कहा कि इससे मासूम बचपन पर विपरित प्रभाव पड़ता है। न्यायाधीश केआर रिगरी ने आरोपित राकेश प्रधान को धारा 354 ख एवं धारा 8 पाक्सो एक्ट के लिए 3-3 वर्ष सश्रम कारावास एवं 1-1 हजार रूपए अर्थदंड से दंडित किया।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close