जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जिले में सबके सहयोग से अपराध नियंत्रण एवं वर्तमान में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। इसे देखते हुए कोरोना गाइड लाइन का पालन लोगों से कराना पहली प्राथमिकता होगी। ये बातें नवपदस्थ एसपी डा. अभिषेक पल्लव ने नईदुनिया से चर्चा में कही।

उन्होंने कहाकि कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है इसलिए लोग भीड़ बढ़ाकर दूसरों के साथ खुद की जान को भी खतरे में डालें। हड़ताल चक्काजाम किसी समस्या का हल नहीं है। शांतिपूर्ण ढंग से भी प्रशासन और पुलिस के समक्ष अपनी बातें रखी जा सकती है और उसका समाधान भी निकाला जा सकता है। दंतेवाड़ा और इस जिले की पुलिसिंग में अंतर होने के सवाल पर उन्होंने कहाकि जंगल और मैदानी इलाके की पुलिसिंग में बहुत अंतर है। यहां और वहां कि समस्याएं भी अलग - अलग है। मगर हर तरह की चुनौतियों से निपटा जाएगा। अभी कोरोना विस्पᆬोट के चलते इसके नियंत्रण के लिए गाइड लाइन का पालन कराना हमारी प्राथमिकता में है। स्थिति ठीक होगी उसके बाद चलित थाना शुरू की जाएगी और लोगों तक पहुंचकर उनकी समस्याएं जानेंगे। उन्होंने कहाकि पुलिस विभाग में भ्रष्टाचार की शिकायत पर कड़ी कार्रवाई होगी। जिले में चोरियां लगातार बढ़ने के संबंध में उन्होंने कहाकि चोरों को पकड़ना निश्चितरूप से हमारी जिम्मेदारी है। लेकिन जनता को भी सजग रहना होगा। घर तालाबंद कर लंबे समय बाहर रहने व घर में ज्यादा नकदी व आभूषण रखने से परहेज करें। ज्ञात हो कि एसपी डा. अभिषेक पल्लव इसके पूर्व दंतेवाड़ा में एसपी के पद पर पदस्थ थे। वे 2013 बेच के आईपीएस हैं। वे मनोचिकित्सा में एमडी हैं। उनकी पहचान संवेदनशील आईपीएस में होती है। बस्तर क्षेत्र में उन्हें खुशियों की गोली देने वाले डाक्टर के रूप में भी आदिवासी जानते हैं। उन्होंने वहां कई स्वास्थ्य शिविर भी लगाए और लोगों का खुद इलाज भी किया।

मनोविज्ञान यहां भी जरूरी

एमबीबीएस व एम्स दिल्ली से एमडी होने के बाद पुलिस सेवा में आने के संबंध में उन्होंने कहाकि मनोविज्ञान उनका विषय है और पुलिस में भी अपराधियों , दंगाई व हड़ताल, धरना प्रदर्शन करने वालों का मनोविज्ञान भी जानना जरूरी रहता है तभी उन्हें समझाया जा सकता है। आंदोलन के लिए उकसाने वाले लोगों की मानसिकता का अध्ययन भी आवश्यक होता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local