जांजगीर -चांपा (नईदुनिया न्यूज)। भतीजी को स्कूल छोड़ने जा रही महिला की सोमवार की सुबह हाइवा की चपेट में आने से मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने आरोपित चालक को गिरफ्तार किया और उसकी मेडिकल जांच कराई तो वह नशे में मिला। कोतवाली पुलिस ने आरोपित वाहन चालक के विरूद्घ हत्या की श्रेणी में न आने वाला अपराधिक मानव वध का अपराध दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया है।

पुलिस के अनुसार सोमवार की सुबह साढ़े 7 बजे वार्ड क्रमांक 6 बीडी महंत जांजगीर की रहने वाली नवदानी सराफ (28) पति आशीष सरापᆬ अपनी भतीजी वैष्णवी सरापᆬ (14) पिता सतीष सरापᆬ को केंद्रीय विद्यालय छोड़ने जा रही थी। वैष्णवी केंद्रीय विद्यालय जांजगीर में कक्षा 8 वीं में पढ़ती है। सोमवार को उसकी स्कूल वेन नहीं आई थी, इसलिए उसकी चाची नवदानी सरापᆬ स्कूटी से उसे छोड़ने जा रही थी तभी जिला जेल के पीछे एनएच 49 पर एक तेज रफ्तार हाइवा क्रमांक एपी 4211 के चालक ने तेज एवं लापरवाही पूर्वक चलाते हुए उनकी स्कूटी को चपेट में ले लिया। हादसे में मौके पर ही नवदानी की मौत हो गई, वहीं वैष्णवी भी गंभीर रूप से घायल हो गई। गंभीर रूप से घायल होने पर उसे बिलासपुर रिफर किया गया। पुलिस ने यशवंत कुमार सराफ की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपित चालक को गिरफ्तार किया और उसकी जांच कराई, जिसमें वह नशे में मिला। पुलिस ने आरोपित चालक ग्राम लैलरिया जिला जमुई बिहार निवासी दिवाकर कुमार यादव के विरूद्घ भादवि की धारा 304 के तहत अपराध पंजीबद्घ कर गिरफ्तार किया और न्यायालय में पेश किया जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया ।

क्या है धारा 304

आम तौर पर सड़क दुर्घटना में भादवि की धारा 304 ए के तहत अपराध दर्ज किया जाता है। मगर चालक नशे में था और लापरवाही पूर्वक वाहन चला रहा था। इसलिए इस मामले में पुलिस ने धारा 304 के तहत अपराधिक मानव वध का अपराध दर्ज किया है। यह संज्ञेय और गैर जमानती अपराध है। इसमें दस वर्ष कारावास का प्रविधान है। जबकि धारा 304 ए में लापरवाही पूर्वक कार्य से मृत्यु होने पर दो साल कारावास की सजा है और यह संज्ञेय व जमानती अपराध है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close