बलौदा। नईदुनिया न्यूज। महिला स्वर्णकार समाज द्वारा स्थानीय साईं मंगलम में तीज मिलन समारोह मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ सर्वप्रथम स्वर्णकार समाज की महिला अध्यक्ष श्रीमती इंदिरा सोनी, उपाध्यक्ष श्रीमती गीता सोनी एवं सचिव श्रीमती उमा सोनी द्वारा राम दरबार के समक्ष दीप प्रज्वलन कर कर पूजन अर्चन कर किया गया। पश्चात उपस्थित अतिथियों का पुष्पा हार और बैच लगाकर स्वागत किया गया।

इस कड़ी में अध्यक्ष श्रीमती इंदिरा सोनी के द्वारा तीज मिलन समारोह के स्वागत भाषण में कहा की समाज की सभी महिलाओं को एकजुट होकर सामाजिक कार्यक्रमो मे हिस्सा लेना चाहिए जिससे महिलाओं को आत्मबल मिलता है एक दूसरे के सुख दुख का आदान प्रदान होता है तीज त्यौहार मे पारम्परिक रीति रिवाज की जानकारी मिलती है, इस तरह के कार्यक्रम सभी के सहयोग से सफल होता है जिससे हम सभी को एक सूत्र मे बांधे रखता है । तीज मिलन कार्यक्रम में बलौदा की महिला स्वर्णकार समाज के द्वारा विभिन्ना सांस्कृतिक कार्यक्रम खेलकूद का आयोजन भी किया गया। स्वागत गीत कुमारी भारती सोनी के द्वारा प्रस्तुत किया, जिसे सभी महिलाओं ने करतल ध्वनि से स्वागत किया। इसी क्रम में श्रीमती रुकमणी सोनी के द्वारा समाज की महिलाओं के लिए प्रेरणा गीत प्रस्तुत की गई ।सांस्कृतिक कार्यक्रम के अंतर्गत श्रीमती कौशल्या सोनी ने सुमधुर गीत की प्रस्तुति दी। इसी तरह कविता निर्मला प्रीति कमला रागिनी एवं संजना सोनी के द्वारा मराठी नृत्य में खूब तालियां बटोरीं। साथ ही साथ समाज के छोटे-छोटे बधाों के द्वारा विभिन्ना सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए किए गए। उपरांत कार्यक्रम में आए हुए महिलाओं के द्वारा सोलह सिंगार का कार्यक्रम किया गया।जिसमें काफी संख्या में महिलाओं ने भाग लिया। श्रीमती संध्या सोनी को तीज क्वीन का खिताब मिला और श्रीमती गोदावरी सोनी को को सोलह सिंगार महारानी का खिताब मिला। इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए स्वर्णकार समाज की महिला कार्यकारिणी सदस्यों श्रीमती सुशीला सोनी, श्रीमती कमला सोनी, श्रीमती दीपा सोनी, श्रीमती कविता सोनी, श्रीमती मंजू लता सोनी, श्रीमती निर्मला सोनी, श्रीमती रजनी सोनी, श्रीमती रश्मि सोनी, श्रीमती आशा सोनी (रानी), श्रीमती ज्योति सोनी, श्रीमती रीना सोनी, श्रीमती रोशनी सोनी, श्रीमती संध्या सोनी, श्रीमती शारदा सोनी, श्रीमती सीता सोनी, श्रीमती सुलोचना सोनी सहित समाज के महिला सदस्यों का विशेष योगदान रहा।