जांजगीर -चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जमीन की अवैध प्लाटिंग कर बेचने वाले कारोबारियों के खिलापᆬ प्रशासन की कार्रवाई ठंडे बस्ते में चली गई है। एक माह में जांजगीर और चांपा थाने में मात्र एक एक एपᆬआईआर हुई। उसमें भी चांपा में हुई एपᆬआईआर में अब तक आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। वहीं अन्य कारोबारियों के खिलापᆬ कार्रवाई के लिए कलेक्टर द्वारा बार बार निर्देश देने के बाद भी अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। कलेक्टर के निर्देश का अधिकारियों पर कोई असर नहीं हो रहा है।

जिले में अवैध प्लाटिंग का धंधा जोरों पर है। इसके चलते जमीन दलाल जमीन के छोटे-छोटे टुकड़े कर बिना डायर्वसन और कालोनाइजर एक्ट के तहत पंजीयन कराए धड़ल्ले से जमीन की खरीदी बिक्री कर रहे हैं। इससे सरकार को भी आर्थिक नुकसान हो रहा है। इसको लेकर कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैें। आदिवासियों की जमीन को भी गलत ढंग से खरीदी बिक्री कर प्लाटिंग कर दी गई है। नगर पालिका जांजगीर - नैला और चांपा में जिला प्रशासन द्वारा जमीन के अवैध कारोबार करने वालों के खिलापᆬ कार्रवाई के लिए एसडीएम, तहसीलदार, नगर पालिका सीएमओ और टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के अधिकारियों की संयुक्त टीम बनाई गई है। नगर पालिका क्षेत्र जांजगीर नैला में अवैध प्लाटिंग करने वाले पांच लोगों के खिलापᆬ अपराध दर्ज करते हुए पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार किया। एपᆬआईआर दर्ज होने के बाद जमीन के कारोबारियों में हडकंप मच गया और कई कारोबारी तो भूमिगत भी हो गए। इसके बाद चांपा थाने में सात आरोपितों के खिलापᆬ अपराध दर्ज किया गया। जांजगीर में आरोपितों की गिरफ्तारी भी हुई मगर वे उसी दिन जमानत पर छूट गए। चांपा थाने में हुई एपᆬआईआर में पखवाड़े भर बीत जाने के बाद भी अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। वहीं अब भू मापिᆬयाओं के खिलापᆬ कार्रवाई भी थम गई है। जबकि कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा समय सीमा की बैठक में अधिकारियों को हर बार निर्देश दे रहें हैं मगर अधिकारियों पर कोई असर नहीं हो रहा है। इसके चलते जमीन का अवैध कारोबार थम नहीं रहा है। हालांकि शुरूआत में हुई कार्रवाई के बाद भू - मापिᆬया सकते में आए थे मगर अब कार्रवाई बंद होने के बाद उन्हें यह लगने लगा है कि प्रशासन भी शांत बैठ गया है।

नगरीय निकायों में धड़ल्ले से चल रहा कारोबार

नगर पालिका और ग्राम निवेश विभाग की अनुमति के बिना कालोनी निर्माण और जमीन के छोटे छोटे टुकड़ों में बेचने का अवैध कारोबार जांजगीर, चांपा, अकलतरा, शिवरीनारायण सहित नगरीय निकाय क्षेत्रों में धड़ल्ले से चल रहा है। नगर पालिका जांजगीर नैला के मुनुंद रोड, अकलतरा रोड, खोखसा मार्ग, जर्वे रोड सहित अनेक स्थानों में अवैध प्लाटिंग धड़ल्ले से किया गया है। सर्वसुविधायुक्त कालोनी का सपना दिखाकर जमीन को टुकड़ों में लोगों को बेचा गया है।

जांजगीर में जमीन दलालों की कुंडली तैयार

जमीन की अवैध प्लाटिंग करने के मामले में जांजगीर राजस्व में पिᆬर एपᆬआईआर की तैयारी राजस्व और नगर पालिका द्वारा की जा रही है। इसके लिए आवश्यक दस्तावेज खंगाले जा रहे हैं। मंगलवार को कलेक्टर ने एक बार पिᆬर अधिकारियों को जमीन की अवैध प्लाटिंग करने वालों के खिलापᆬ कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। ऐसे में जल्द ही जांजगीर में जमीन के अवैध कारोबारियों पर कार्रवाई हो सकती है।

यह है प्लाटिंग का नियम

जमीन की प्लाटिंग करने से पहले उसका डायर्वसन व नक्शा पास कराकर उसकी बिक्री स्थानीय निकायों से अनुमति के बाद की जाती है। इसके लिए कालोनाइजर एक्ट के तहत पंजीयन आवश्यक है साथ ही रेरा की सहमति भी जरूरी है। ऐसा करने पर कालोनाइजरों को शासन को डायर्वसन शुल्क और रेरा में पंजीयन के लिए राशि भी देनी पड़ती है। साथ ही कालोनी बनाने पर आर्थिक रूप से कमजोर लोगों के लिए कुछ प्लाट सुरक्षित रखना पड़ता है। ऐसे में उनको नुकसान होता है, इसलिए ये सीधे खेत को टुकड़ों में बांटकर बिना डायर्वसन के सीधे किसान के नाम से खरीददार के नाम रजिस्ट्री करा देते हैं। इसके चलते जमीन दलाल कार्रवाई से बच भी जा रहे हैं, क्योंकि पेपर में इनका नाम कहीं नहीं होता।

अवैध प्लाटिंग पर एसडीएम - तहसीलदार करें कार्रवाई

कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने सभी एसडीएम और तहसीलदार को अवैध प्लाटिंग करने वालों के विरुद्घ अभियान चलाकर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने जांजगीर, शिवरीनारायण क्षेत्र में अवैध प्लाटिंग पर रोक लगाने के निर्देश दिए हैं।

'' अवैध प्लाटिंग के मामले में तहसील कार्यालय से कुछ दस्तावेजों की मांग की गई थी जो अभी तक उपलब्ध नहीं कराया गया है। जिसके कारण कार्रवाई आगे नहीं बढ़ पा रही है। दस्तावेज उपलब्ध होते ही कार्रवाई आगे बढ़ाई जाएगी। कुछ लोग नियमितीकरण को लेकर जरूर संपर्क कर रहे हैं।

चंदन शर्मा

सीएमओ, नगर पालिका जांजगीर नैला

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close