सक्ती(नईदुनिया न्यूज)। भारत छोड़ो आंदोलन की 78वीं वर्षगाठ पर भारत बचाओ, जनता बचाओ नारों के साथ छग प्रदेश किसान सभा शाखा सक्ती द्वारा एसडीएम कार्यालय पहुंच कर 17 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के नाम सौंपा गया।

संघ के पदाधिकारियों का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से गरीब, मजदूर, किसान व छोटे-छोटे व्यापारियों के साथ साथ बेरोजगारों की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है, जबकि सरकार को पूंजीपतियों तथा संपन्ना लोगों की चिंता है। किसान एवं आम जनता को राहत नहीं दी गई केवल इन्हें सांत्वना स्वरूप कुछ-कुछ योजनाओं से आंशिक रूप से राहत दी गई है। 9 अगस्त को भारत छोड़ो आंदोलन के 78वीं वर्षगांठ के दिन भारत बचाओ जनता बचाओ के नारे के साथ छत्तीसगढ़ प्रदेश किसान सभा के सदस्यों ने विभिन्ना मांगे रखी। इनमें सभी व्यक्तियों को सार्वभौम स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने, 6 माह तक गरीब और मजदूर वर्ग के साथ किसानों को प्रतिमाह 10 किलो मुफ्त अनाज, अगले 6 माह तक आयकर की सीमा से बाहर गांव एवं शहरों के प्रत्येक परिवार को 75 सौ रूपए की सहायता राशि उपलब्ध कराने, किसानों के हित में खेती-बाड़ी को मनरेगा कानून के साथ जोड़े जाने, मंडी कानून और आवश्यक वस्तु कानून में जारी किए गए गरीब जनता विरोधी नये आदेश निरस्त किए जाने, खाद की कालाबाजारी करने वाले व्यापारियों के खिलापᆬ एपᆬआईआर करने, मजदूर किसान परिवार के शिक्षित बेरोजगारों को 2 हजार रूपये प्रति माह बेरोजगारी भत्ता शीघ्र देने और पूर्व में खरीदे गए धान खरीदी वर्ष 2016-17 एवं वर्तमान धान खरीदी वर्ष 2020 तक की धान खरीदी का बोनस राशि एकमुश्त देने की मांग की गई। ज्ञापन सौंपने वालों में अनिल शर्मा, केडी महंत, काशीराम यादव, शिवकुमार, दशरथ बरेठ, चेतराम, देवेंद्र जयसवाल, गुड्डू देवांगन, संजू कुमार निर्मल, गोपाल कृष्ण यादव, रामप्रसाद नवल सिंह, वेद राम, राम प्रसाद, भागीरथी, पितांबर, दुलीचंद साहू सहित सक्ती क्षेत्र के छत्तीसगढ़ प्रदेश किसान सभा एटक के मजदूर किसान शामिल थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020