खरौद। नईदुनिया न्यूज। शासकीय लक्ष्मणेश्वर महाविद्यालय खरौद में राष्ट्रीय अन्तर्विषयक शोध संगोष्ठी का आयोजन किया गया । प्रथम तकनीकि सत्र भारत में शिक्षा की समस्या कारण और निवारण विषय की अध्यक्षता शासकीय वीरनारायण सिंह महाविद्यालय बिलाईगढ़ के प्रभारी प्राचार्य डॉ श्रीमती सुनीता विक्रम कोसले ने की। संगोष्ठी का प्रतिवेदन डॉ सुनीता राठौर शासकीय महादानी मयुरध्वज महाविद्यालय चांपा ने की । मुख्य वक्ता डॉ डीआर लहरे प्राचार्य, शासकीय महाविद्यालय सारंगढ़ रहे। महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एआर बंजारे, शासकीय महाविद्यालय नवागढ़ के प्राचार्य डॉ बीके पटेल, प्रो अर्चना आसटकर जोबी, प्राचार्य जेबीडी महाविद्यालय कटघोरा डॉ प्यारे लाल आदिले उपस्थिति थे। प्रमुख वक्ता डॉ डीआर लहरे ने शिक्षा जगत में आ रही गिरावट के लिए पश्चिमीकरण को जिम्मेदार ठहराते हुए समृद्ध भारत की प्राचीन परम्परा की ओर लौटने की बात कही। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो सुनीता विक्रम कोसले ने उपलब्ध संसाधन और चल रही मौजुदा व्यवस्था को जिम्मेदार बतलाया। इस सत्र में प्रो शिव कुमार बंजारे नवागढ़, संजुलता पटेल शिवरीनारायण, प्रो वासुदेव पटेल जोबी प्रो अल्का सिंह शिवरीनारायण, कविता कठौतिया छात्रा, छात्र बलराम जायसवाल, प्रो रामकुमार बंजारे, छात्र केशव देवांगन, प्रो कमल किशोर जांगड़े आदि ने अपने शोध पत्र पढ़े। द्वितीय सत्र के अध्यक्ष महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एआर बंजारे रहे। वही पर प्रसिद्ध राजनीतिक वेत्ता और शासकीय बिलासा स्वधाासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय बिलासपुर के प्राचार्य डॉ एसएल निराला प्रमुख वक्ता रहे। डॉ एसएल निराला ने तक्षशिक्षा और नालंदा विश्वविद्यालय के समय भारत के विश्वगुरू के रूप में प्रतिष्ठित होने की बात कही। उन्होंने वर्तमान समय में सामाजिक असामानता को शिक्षा की गिरावट का प्रमुख कारण बतलाते हुए, फुले दम्पत्ति के योगदान की बात कही। डॉ जेआर चौहान भैसमा, प्रो खैरवार, प्रो किरण दुबे थी। आयोजन के मुख्य अतिथि साहित्यकार एवं शिक्षाविद राजेश मौर्य, प्रमुख वक्ता आरजी ब्रजेश मुम्बई, विशिष्ट अतिथि डॉ आशुतोष देसकर बैकुण्ठपुर, डॉ मधुसुदन तम्बोली बिलासपुर ने कार्यक्रम को संबोधित किया। प्रतिवेदन प्रो जीएन भतपरे ने पढ़ी । सांस्कृतिक कार्यक्रम मेंकु. आकांक्षा, हिना, गूंजा, चन्द्रकांता और राजश्री ने सरस्वती वंदना एवं नृत्य की प्रस्तुत दी। आभार प्रदर्शन महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ एआर बंजारे ने और संचालन संगोष्ठी के संयोजक डा. जीसी भारद्वाज ने की। कार्यक्रम के आयोजन में महाविद्यालय के सभी अधिकारी,कर्मचारी तथा छात्र-छात्राओंकी भूमिका रही।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020