जांजगीर -चांपा । जिले में धान के लिए बीज उत्पादन करने वाले किसान न्याय योजना से वंचित हैं उन्हें इसका लाभ अब तक नही मिला है। ये किसान प्रक्रिया केंद्र का च-र काट रहे हैं। इससे आक्रोशित किसानों ने आज कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर शीघ्र ही राशि दिलाए जाने की मांग की है।

जिले में 623 किसान धान बीज उत्पादन कर बीज निगम में देते हैं इसके लिए पूर्व में ही उनका पंजीयन होता है। समर्थन मूल्य से अधिक कीमत पर उनके बीज की खरीदी बीज निगम द्वारा की जाती है। मगर इस बार ये किसान छले गए हैं उन्हें धान बीज की राशि मात्र 2390 रुपये प्रति क्विंटल के दर से दी गई है जबकि आम किसानों को धान का समर्थन मूल्य 2500 रुपये प्रति क्विंटल की दर से दिया जा रहा है। इन किसानों को भी न्याय योजना के तहत 600 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से भुगतान किया जाना है मगर अब तक जिले के किसानों को इसका भुगतान नहीं हुआ है। ऐसे में किसान ठगा महसूस कर रहे हैं। किसान संदीप तिवारी का कहना है कि जिले में सभी किसानों को 2500 रुपये प्रति क्विंटल की दर से धान का भुगतान किया जा रहा है दो किस्तों में न्याय योजना की राशि दी जा चुकी है जबकि जिन किसानों के बीज को लगाकर किसान धान की पैदावार करते हैं वही किसान न्याय योजना से वंचित हैं। हम मात्र 2390 रुपये की दर से धान बीज का भुगतान हुआ है। कृषक ब्यास कश्यप का कहना है कि धान खरीदी का समय फिर आ गया पर अब तक बीज निगम से पुराने बीज बिक्री के लिए न्याय योजना के तहत राशि नहीं मिली है। किसानों को प्रति क्विंटल 600 रुपये का भुगतान होना है मगर अब तक राशि आबंटित नही होने की बात कही जाती है। आज इस संबंध में कृषक चेतना मंच के जिला सह संयोजक संदीप तिवारी ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा जिसमें मनमाने ढंग से किसानों का रकबा काटे जाने को भी अनुचित बताते हुए किसानों के ऋण पुस्तिका के आधार पर आनलाइन किए जाने की मांग की।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस