जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जिले में कम अवधि में तैयार होने वाली फ़सल पककर तैयार है। अब इसकी कटाई के लिए किसान खेतों में पानी सूखने का इंतजार कर रहे हैं। जिले में महामाया, कलिंगा जैसी कई अर्ली वेरायटी की धान फसल ली गई है। यह फसल अब पूरी तरह तैयार है किसान अब इसे काटने के लिए खेतों की नमी कम होने का इंतजार कर रहे हैं।जैसे ही पानी सूखेगा फसल कटाई शुरू होगी। अब ज्यादातर किसान थ्रेशर और हार्वेस्टर से धान की कटाई करते हैं इसलिए खेत का सूखना जरूरी है। ग्राम खपराडीह के किसान देवचरण ने बताया कि उसने 3 एकड़ में महामाया धान की खेती की है जो लगभग तैयार है ऐसे में अब खेत सूखने का इंतजार कर रहे हैं।ज्ञात हो कि किसान टिकरा और अंतिम छोर के खेतों में कम अवधि में पकने वाली धान की फसल लेते हैं ताकि पानी के लिए परेशानी न हो। अब यह फसल तैयार है जिले में लगभग 50 हजार हेक्टेयर की फसल तैयार है और दो चार दिन में इनकी कटाई शुरु हो जाएगी। इसके अलावा किसान अब खेतों में दलहन तिलहन फसल तिवरा सरसों अलसी की उतेरा बोआई शुरू कर चुके हैं। इस बार भी रबी फसल के लिए नहर से पानी दिया जाएगा । प्रशासन ने किसानों से दलहन तिलहन की फसल लगाने का आग्रह किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस