जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। कलेक्टर के निर्देश के बाद जिला मुख्यालय सहित अन्य नगरीय निकायों में देर रात तक दुकानें खुल रहे हैं, बावजूद इसके पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारियों द्वारा कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिसके चलते देर रात तक पान दुकानों सहित होटलों में ग्राहकों की भीड़ लग रही है।

कोरोना संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी यशवंत कुमार द्वारा आदेश जारी किया है। जारी आदेश के अनुसार सभी प्रकार की स्थायी एवं अस्थायी दुकानें सुबह 6 बजे से रात 9 बजे तक, इंडोर डायनिंग वाले रेस्टोरेंट, होटल और ढाबा सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक संचालित किए जा सकेंगे। टेक-अवे एवं होम डिलीवरी वाले रेस्टोरेंट, होटल और ढाबा रात के 11.30 तक डिलीवरी की सुविधाएं दे सकेंगे। इस आदेश के तहत पेट्रोल पम्प एवं मेडिकल स्टोर्स इस नियंत्रण से मुक्त रहेंगे। सभी दुकानों के सामने दुकानदारों को स्वयं फ्लैक्स छपवाकर दुकानों के खुलने एवं बंद करने की समय - सीमा को प्रदर्शित करनी होगी। सभी व्यापारियों, कर्मचारियों और ग्राहकों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। समस्त व्यापारिक गतिविधियों में पिᆬजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। सभी व्यवसायियों को अपनी दुकान और संस्थान में विक्रय के लिए मास्क रखना अनिवार्य होगा, ताकि बिना मास्क पहने खरीददारी करने के लिए आये ग्राहकों को पहले मास्क का विक्रय या वितरण करने के बाद अन्य वस्तुओं या सेवाओं का विक्रय किया जा सके। प्रत्येक दुकान और संस्थान में स्वयं तथा आगंतुकों के उपयोग के लिए सेनेटाइजर रखना अनिवार्य होगा, मगर जिला मुख्यालय सहित अन्य नगरीय निकायों में देर रात पान दुकानों सहित होटलों का संचालन किया जा रहा है, बावजूद इसके पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा कार्रवाई नहीं की जा रही है।

नहीं हो रही एपᆬआईआर दर्ज

कलेक्टर द्वारा जारी आदेश के अनुसार सभी प्रकार की स्थायी एवं अस्थायी दुकानें सुबह 6 बजे से रात 9 बजे तक, इंडोर डायनिंग वाले रेस्टोरेंट, होटल और ढाबा सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक संचालित किए जा सकेंगे। साथ ही दुकानों में कोरोना गाइड लाइन का पालन करने का निर्देश जारी किया गया है। साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलापᆬ तत्काल प्रभाव से 15 दिनों के लिए सील का निर्देश दिया है। वहीं उक्त आदेशों का उल्लघंन करने वाले व्यक्ति या प्रतिष्ठान को भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 108 सहपठित आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 एवं महामारी नियंत्रण अधिनियम 1897 की धारा 3 के तहत दण्डित किए जाने का प्रावधान है, मगर विभाग के अधिकारियों द्वारा केवल चौक चौराहों पर कार्रवाई कर औपचारिकता निभाई जा रही है, जबकि नगरीय क्षेत्रों में किराना, कपड़ा सहित बड़े प्रतिष्ठानों में बेखौपᆬ नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

बिना मास्क वालों से जुर्माना वसूल निभाई जा रही औपचारिकता

जिले में लगातार कोरोना संक्रमण के बावजूद संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन गंभीर नहीं है। हालांकि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए कलेक्टर यशवंत कुमार संबंधित अधिकारियों की बैठक लेकर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। कलेक्टर के निर्देश के संबंधित राजस्व अधिकारियों सहित सभी नगर पालिका के अधिकारी-कर्मचारी चौक चौराहों में खड़े होकर बिना मास्क के घूम रहे लोगों के खिलापᆬ कार्रवाई कर उनसे जुर्माना वसूल कर रहे हैं, जबकि सभी दुकानों सहित बाजारों में पिᆬजिकल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़ाते हुए लोग बाजारों में बेखौपᆬ घूम रहे हैं, बावजूद इसके विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा दुकान संचालकों के खिलापᆬ कार्रवाई नहीं की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags