जांजगीर-चांपा। नईदुनिया न्यूज। जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल ने जिपं सभाकक्ष में नरवा विकास कार्यक्रम के तहत जिले के 87 नालों के डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट की समीक्षा बैठक ली। समीक्षा बैठक में उन्होंने ग्रामीण यांत्रिकी सेवा अनुविभागीय अधिकारियों को डीपीआर में सम्मिलित संरचनाओं का प्रस्ताव तकनीकी स्वीकृति के लिए भेजने कहा, ताकि उनका परीक्षण किया जा सके।

सुराजी गांव योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाडी के नरवा विकास कार्यक्रम में जिले के 87 नालों का संरक्षण किया जाना है। जिपं सीईओ ने कहा कि जिले में बेहतर जल संरक्षण की दिशा में कार्य हो और ग्रामीणों को बाहरमासी पानी मिल सके इसके लिए प्रत्येक जनपद से नालों का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार किया गया। उन्होंने कहा कि डीपीआर में सम्मिलित सभी स्ट्रक्चर को तकनीकी स्वीकृति के लिए भेजे ताकि त्रुटि सुधार परीक्षण की कार्रवाई की जा सके। परीक्षण उपरांत और आचार संहिता समाप्त होते ही प्रशासकीय स्वीकृति दी जा सकेगी। उन्होंने आरईएस के माध्यम से जनपद पंचायतवार डीएमएफ से कराए जा रहे कार्यो की सिलसिलेवार समीक्षा बैठक ली। साथ ही डीएमएफ से स्वीकृत कार्यों को अविलंब शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कार्य पूर्ण होने के बाद उसका उपयोगिता प्रमाण पत्र भी भेजे। बैठक में आरईएस कार्यपालन अभियंता, अनुविभागीय अधिकारी, मनरेगा सहायक परियोजना अधिकारी, तकनीकी सहायक आदि उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket