चांपा। जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र को चांपा से जांजगीर ले जाने का विरोध नगरवासियों ने किया। आज कार्यालय परिसर में धरना दिया गया। सामान समेटने का प्रयास कर रहे कर्मचारियों से झूमाझटकी भी हुई। अधिकारियों ने स्थिति को काबू में किया। कलेक्टर के आश्वासन के बाद लोग शांत हुए।

जिला प्रशासन द्वारा चांपा से जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र को जांजगीर स्थानांतरित किया जा रहा था। इसका नगरवासियों द्वारा विरोध किया जा रहा है। विधायक मोती लाल देवांगन ने 10 फरवरी को जिला प्रशासन से यथास्थिति बनाए रखने कहा गया था। जिस पर जिला प्रशासन द्वारा विधायक को आश्वस्त किया गया था। इसके बावजूद उद्योग केन्द्र स्थानांतरित की सुगबुगाहट के विरोध में आज सांकेतिक धरना देने नगरवासियों ने निर्णय लिया था। इधर जिला प्रशासन द्वारा वादा खिलाफी की गई। 11 बजे के बाद खुलने वाला उद्योग केन्द्र कार्यालय आज सुबह 8 बजे खुल गया था। रिकार्ड ले जाने पीआईएल का एक ट्रक खड़ा कर कार्यालय का सामान समेटा जा रहा। था। इसकी जानकारी नगर के लोगों को होते ही लोग आक्रोशित हो गए। एसडीएम के निवास पर सवा नौ बजे धरना की सूचना दी गई। सुबह 10 बजे जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के सामने लोग शांतिपूर्ण धरना में बैठ गए, लेकिन उद्योग केंद्र के कर्मचारियों व अधिकरियों का सामान समेटना जारी रहा। लोग उन्हें रोकने व समझाने की कोशिश करते रहे। लोगों के समझाने के बाद भी उद्योग केंद के कर्मचारियों का सामान समेटना जारी था। इस पर धरने पर बैठ लोग भड़क उठे। लोगों व उद्योग केन्द्र के कर्मचारियों के बीच छीना झपटी होने लगी। इस दौरान कार्यालय का आलमारी गिर गया। धमाचौकड़ी में शीशे टूटे, कुर्सियां टूटी। लोगों का आक्रोश देख कर्मचारी भाग खड़े हुए। पीआईएल का ट्रक चालक ट्रक लेकर भाग निकला। आंदोलन में मंगतूराम शर्मा, विजय सोनी, पुरूषोत्तम शर्मा, प्रदीप नामदेव, टिकू मेमन, मो. सलीम मेमन, आरिफ अंसारी, किशन सोनी, नागेन्द्र गुप्ता, भीषम राठौर, योगेश दवे, शिव मिश्रा, हरीश पाण्डेय, भीमन थवाईत, अनिल गुप्ता, नारायण मित्तल, मनीष गुप्ता, महेन्द्र तिवारी, सुशील मोदी, श्याम स्वरूप सिंह, अनिता प्रकाश, रितेश मोदी, गौतम यादव, रितेश शर्मा, रामवल्लभ सोनी, शिवराम सोनी, राधे देवांगन, राजन गुप्ता, मोहन सोनी, मिंटू अग्रवाल, संतोष सिंह जब्बल, पंकज राय, अजय कुमार साहू, धर्मेद्र गुप्ता, संजय दास, अशोक कंसारी, पंकज अग्रवाल, पवन यादव, फेकु गोस्वामी, गंगादास सहित अन्य लोग शामिल थे।

कलेक्टर के आश्वासन पर शांत हुए लोग

सुबह 11ः30 बजे एसडीएम एके शर्मा, एसडीओपी श्री राय, थाना प्रभारी श्री मरकाम पुलिस बल के साथ धरना स्थल पहुंचे। एसडीएम द्वारा फिलहाल चांपा से उद्योग केन्द्र नहीं हटाने का आश्वासन दिया जा रहा था, लेकिन लोग ठोस आश्वासन चाह रहे थे। दोपहर 2 बजे लोग कलेक्टोरेट पहुंचे, जहां कलेक्टर ओपी चौधरी से चर्चा की गई। कलेक्टर ने चांपा में भूमि तलाश कर नवीन भवन बनवाने की पहल करते हुए व्यापार एवं उद्योग केन्द्र को चांपा में ही रखे जाने का आश्वासन दिया।

----------