जांजगीर-चाम्पा। (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में विभागीय उदासीनता व लोगों में जागरूकता के अभाव में संक्रमण पᆬैलने का खतरा भी बढ़ने लगा है। बुधवार को शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल पोरथा में एक कोरोना पाजिटिव पाए जाने के बाद भी क्वांरटाइन सेंटर के मजदूर गांव में बेखौपᆬ घूम रहे थे। इससे यहां ड्यूटीरत अधिकारी कर्मचारियों की सजगता का सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। हालांकि घटना के बाद पुलिस ने तीनों श्रमिकों के खिलापᆬ जुर्म दर्ज कर विवेचना में लिया है।

देश में लगातार कोरोना संक्रमित मरीज पाए जाने के बाद लोग वायरस को लेकर लगातार सावधानी बरत रहे हैं। हालांकि केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा लगातार एडवायजरी जारी कर कोरोना पाजिटिव पाए गए क्षेत्रों को कंटेंनमेंट जोन घोषित कर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जा रहा है। वहीं उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद कलेक्टर द्वारा भी कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर सभी गतिविधियों पर प्रतिबंध लाया जा रहा है। साथ ही यहां आवाजाही पूर्ण प्रतिबंधित किया जाता है, मगर जिले में विभागीय उदासीनता व लोगों में जागरूकता के अभाव से संक्रमण पᆬैलने का खतरा भी बढ़ने लगा है। यहां लगातार प्रवासी मजदूरों के घर वापस आने का दौर जारी है। रोजाना बड़ी संख्या में मजदूर गांव वापस लौट रहे हैं। हालांकि कलेक्टर के निर्देश पर अन्य राज्यों से पहुंचे प्रवासी मजदूरों सहित लोगों को 14 दिनों तक क्वारंटाइन करने सभी पंचायतों में क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। यहां प्रवासी मजदूरों के लौटने के बाद जिले में पखवाड़े भर के भीतर 55 कोरोना पाजिटिव मरीज पाए गए हैं। हालांकि कलेक्टर यशंवत कुमार द्वारा भी प्रवासी मजदूरों को संबंधित ब्लाक के अंतर्गत बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में रखकर उनका स्वास्थ्य जांच किया जा रहा है। सक्ती ब्लाक अंतर्गत ग्राम पंचायत पोरथा में शासकीय उच्चतर माध्यमिक स्कूल को क्वांरटाइन सेंटर बनाया गया है। यहां ब्लाक के सोठी, डडाई सहित आसपास के 93 प्रवासी मजदूरों को क्वांरटाइन कर उनका सैम्पल जांच के लिए भेजा गया था। यहां जांच के दौरान 3 जून को एक व्यक्ति का रिपोर्ट कोरोना पाजिटीव पाया गया। पोरथा में एक श्रमिक के पाजिटिव पाए जाने के बाद कलेक्टर द्वारा भी क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित पर सभी गतिविधियों पर प्रतिबंध लगाया गया है। साथ ही क्षेत्र की सुरक्षा सहित सभी सावधानी के लिए अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है, बाजवूद इसके पाजिटिव पाए गए क्वारंटाइन सेंटर के श्रमिक बेखौपᆬ गांव में घूम रहे हैं। आज सुबह क्वांरटाइन सेंटर से निकलकर तीन मजदूर बेखौपᆬ सामान लेने गांव चले गए। इसी दौरान सचिव सेंटर पहुंचा और श्रमिकों की जांच की। जांच के दौरान सोंठी निवासी मनहरण लाल पिता सुन्दर लाल, लालाराय पिता धनउ, डडाई निवासी विनोद पिता सम्मेलाल क्वांरटाइन सेंटर से गायब मिले। ऐसे में सचिव ने इसकी जानकारी सरपंच सहित अन्य लोगों को दी। सूचना मिलने पर सरपंच मौके पर पहुंचे और आसपास क्षेत्रों में की जांच की, मगर वे नहीं मिले। कुछ देर बाद तीनों क्वांरटाइन सेंटर वापस लौटे। घटना के बाद सचिव ने इसकी सूचना थाने में दी। पुलिस ने प्रार्थी की रिपोर्ट पर आरोपी सोंठी निवासी मनहरण लाल पिता सुन्दर लाल, लालाराय, डडाई निवासी विनोद के खिलापᆬ भादवि की धारा 188, 269, 271 व धारा 3 महामारी अधिनियम के तहत जुर्म दर्ज कर विवेचना में लिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना