पामगढ़। (नईदुनिया न्यूज)। लगातार जनप्रतिनिधयों सहित संबंधित अधिकारियों को शिकायत करने के सालों बाद भी सड़क की बदहाल व्यवस्था नहीं सुधरने से आक्रोशित युवा एसडीएम कार्यालय पहुंचे और शीघ्र ही सड़क की मरम्मत करने व भारी वाहनों पर प्रवेश रोकने की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा।

पामगढ़ से डोंगाकोहरौद की सड़क अपने बदहाली की दशा से गुजर रहा है, जिसके चलते राहगीरों को जान जोखिम में डालकर गुजरना पड़ रहा है। गांव से होकर गुजरी सड़क गड्ढों में तब्दील हो चुकी है जिसके चलते आए दिन सड़क दुर्घटनाएं हो रही है, मगर सालों बाद भी स्थिति जस की तस है। ज्ञात हो कि पामगढ़ से ससहा तक सड़क निर्माण का कार्य करीब चार वर्ष पूर्व रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन द्वारा ठेका में प्रारंभ किया गया था, जहां मार्ग की डोंगाकोहरौद में किसानों का कृषि भूमि पड़ने के कारण चार किलोमीटर की सड़क अधर में है। इस प्रकरण में कलेक्टर द्वारा 28 अप्रैल को 80 किसानों को 9 करोड़ 70 लाख मुआवजा बांटने का आदेश भी पारित किया जा चुका है लेकिन रायपुर विभागीय कार्यालय से पारित मुआवजा की राशि नहीं मिल पा रही है। जिससे न तो सड़क बन रहा है और न ही किसानों को मुआवजा दिया जा रहा है। यहां विभागीय उदासीनता का खामियाजा क्षेत्रवासियों को भुगतना पड़ रहा है। क्षेत्र की बदहाल सड़क व्यवस्था को सुधार कर शीघ्र ही सड़क निर्माण व भारी वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग को लेकर क्षेत्र के युवा एसडीएम कार्यालय पहुंचे और ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन सौंपने वालों में प्रदीप कौशिक, अनील कुमार, आकाश पाण्डेय, राघव पटेल, अरविंद पटेल, मनीष पाण्डेय, योगेंद्र पटेल, शिवसागर कश्यप, प्रवीण साहू शामिल थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local