जांजगीर-चाम्पा (नईदुनिया न्यूज)। मनरेगा कर्मचारियों ने शनिवार को दो सूत्रीय मांग को लेकर हाईस्कूल मैदा न से रैली निकालकर एसडीएम को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।

छत्तीसगढ़ मनरेगा कर्मचारी महासंघ के बैनर तले अपनी 2 सूत्री मांगों को लेकर 4 अप्रेल से मनरेगा कर्मचारी हड़ताल पर हैं। शनिवार को जिलेके मनरेगा कर्मचारियों ने हाईस्कूल मैदान से होते हुए बीटीआई चौक से मुख्य मार्ग होते हुए नियमितीकरण को लेकर नारेबाजी की और एसडीएम कार्यालय पहुचकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन तहसीलदार को सौंपा। जिला अध्यक्ष विजेंद्र सिंह के नेतृत्व में जिला, जनपद के अधिकारी, कर्मचारी एवं रोजगार सहायक हाईस्कूल मैदान में एकत्रित हुए। जहाँ से सभी कर्मचारी रैली में निकले। इस दौरान अपनी नियमितीकरण और रोजगार सहायको को पंचायत कर्मी का दर्जा देने की मांग को लेकर नारे लगाए गए। मनरेगा कर्मचारियों ने कहा कि वादा निभाओ रैली के माध्यम से कांग्रेस सरकार को यह बताना था कि कांग्रेस ने जनघोषणा पत्र में वादा किया था कि अगर उनकी सरकार बनेगी तो 10 दिवस के भीतर सभी अनियमित कर्मचारियों को नियमित कर दिया जाएगा। वादा करने के तीन साल बीत जाने के बाद भी सरकार ने इस दिशा में कोई सार्थक पहल नहीं की है इसलिए हमें आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ा है। मनरेगा कर्मचारियों की हड़ताल के चलते अप्रेल मई माह में ग्रामीणों को रोजगार नहीं मिल सका। मनरेगा से जहां लोगों को रोजगार मुहैया कराया जाता था, इससे गाँव का विकास तो होता ही था मजदूरों को भी पलायन नही करना पड़ता था। आज स्थिति यह है कि मजदूरों के पास रोजगार नहीं है और वह पलायन करने मजबूर हो रहे हैं। कर्मचारियों ने कहा कि मुख्यमंत्री संवेदनशील हैं। हर मंच पर वह हमारी बात सुन रहे है, इसलिए पहले कमेटी बनाई लेकिन जो कमेटी बनाई गई उसकी अब तक बैठक भी नही हुई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close