जांजगीर-चांपा नईदुनिया प्रतिनिधि। नगर पालिका अध्यक्ष के दो साल पूरे हो गए हैं मगर छह साल पहले पुराना नगर पालिका के पास पालिका द्वारा जीम और वाचनालय के लिए भवन तो बनकर तैयार हो गया है। मगर यहां अभी तक जिम का सामान और पुस्तकें नहीं आ पाई है। नगर पालिका के जिम्मेदार अधिकारी और जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते नगर वासियों को जिम और वाचनालय दोनों की सुविधा नहीं मिल पा रही है।

जिला मुख्यालय जांजगीर के कचहरी चौक के पास पुराना नगर पालिका भवन के बगल में छह साल पहले 48 लाख की लागत से जीम और वाचनालय निर्माण की नींव रखी गई थी। शुरूआत में तो निर्माण कार्य तेज गति से शुरू हुआ जिसे देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा था कि सालभर में नगर के लोगों को इसकी सुविधा मिलने लगेगी। इस बीच निर्माण कार्य पर ऐसा ग्रहण लगा कि ठेकेदार ने काम ठप कर दिया। पालिका ने ठेकेदार को नोटिस जारी किया। नोटिस के बाद ठेकेदार ने निर्माण फिर शुरू किया मगर वह भी ज्यादा दिन तक नहीं चला। इस बीच ठेकेदार द्वारा तीन साल तक निर्माण कार्य अटका कर रखा गया था। इसके बाद भी पालिका द्वारा ठेकेदार के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई और बार-बार केवल नोटिस जारी कर औपचारिकता निभाई जा रही थी।

आखिर कार पालिका ने ठेकेदार को दो साल पहले अंतिम मौका देते हुए कार्य को पूरा करने के लिए दबाव बनाया। दिसंबर 2016 में ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने की चेतावनी दी गई तो उसने दोबारा काम शुरू किया। छह साल बाद जाकर जिम और वाचनालय भवन का निर्माण कार्य पूरा हो सका, लेकिन इसे शुरू करने के लिए पालिका द्वारा फंड का रोना रोया जा रहा है। अभी तक न तो जिम के लिए सामानों की खरीदी की गई है और न ही वाचनालय के लिए पुस्तकें खरीदी गई है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local