अकलतरा(नईदुनिया न्यूज)। नगर के वार्ड क्रमांक 1,2,3 ,17, 18, 19 से लगे हुए क्षेत्रों में नियम विरुद्घ क्रशर संचालन एवं हेल्को ब्लास्टिंग के के विरोध में नगर पालिका के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर, एसडीएम एवं विधायक सौरभ सिंह को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की गई।

नगर पालिका अध्यक्ष शांति भारते ने बताया कि नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत वार्ड क्रमांक 1,2,3, 17, 18 एवं 19 से लगे हुए क्षेत्र में 10 पत्थर खदानें संचालित हैं इन खदानों में हेल्को ब्लास्टिंग (हाई डेंसिटी ब्लास्टिंग) की जाती है जिसके चलते आसपास के क्षेत्र के घरों में दरारें पड़ गई हैं एवं आए दिन पत्थर खदानों से उछलकर घरों में जाकर गिरते हैं जिससे वार्डवासी दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं। नगर के लटिया रोड में स्थित प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के सड़क के कुछ ही दूरी पर पत्थर खदान एवं क्रशर संचालित होने से आवागमन करने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। यहां के पत्थर खदानों में बिलासपुर के व्यवसायियों के द्वारा नियम विरुद्घ हेल्को ब्लास्टिंग कराया जाता है। ब्लास्टिंग के दौरान सड़क पर आवागमन कर रहे लोगों को सूचित नहीं किया जाता है जिसके चलते दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में निर्धारित 12 टन से ज्यादा भार के वाहनों के आवागमन करने के कारण यहां की सड़कें पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई है एवं गड्ढों में तब्दील हो गई हैं। क्रशर खदानों से उड़ने वाली धूल के चलते लोगों का जीवन दूभर हो गया है एवं लोग स्वास्थ्य एवं त्वचा संबंधी अनेक बीमारियों से ग्रसित होते जा रहे हैं। नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत स्थापित खदानों से शासन को करोड़ों रुपए का राजस्व प्राप्त होता है, लेकिन पिछले 3 वित्तीय वर्षों से नगर पालिका अकलतरा को किसी प्रकार की गौण खनिज मद के अंतर्गत राशि नहीं दी गई है जिसके चलते पूर्व एवं वर्तमान के कई विकास कार्य अवरुद्घ पड़े हैं। इन क्रशर खदानों से पहले आयात एवं निर्यात कर के माध्यम से करोड़ों रुपए का राजस्व मिलता था जो वर्तमान में पूर्णतः बंद है। उपरोक्त खदानों से निकलने वाले चूना पत्थर को प्रदेश सेबाहर भेजा जा रहा है जिससे शासन को प्रतिमाह राजस्व की हानि हो रही है। नगर पालिका के प्रतिनिधियों के ज्ञापन पर कलेक्टर एवं विधायक सौरभ सिंह के द्वारा उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है। ज्ञापन सौंपने वालों में पार्षद राजन केडिया सुरेश मिर्चन्य शामिल थे।

तरौद क्षेत्र में अवैध खदान संचालित

ग्राम तरौद, किरारी बनाहिल ,चोरभट्टी एवं इससे लगे कई गांव में एक दर्जन से भी ज्यादा अवैध पत्थर खदानों का संचालन किया जा रहा है। इन पत्थर खदानो का लीज शासन द्वारा नवीनीकरण नहीं किया गया है लेकिन खनिज विभाग के अधिकारियों की लापरवाहीं से येखदानें संचालित हो रही है जिससे शासन को मिलने वाले लाखों रुपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है। तरौद किरारी, बनाहिल एवं विकास खंड के अन्य स्थानों पर संचालित खदाने निर्धारित गहराई से ज्यादा गहरी हो गई हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local