जांजगीर-चांपा। खसरा एवं भुइयां साफ्टवेयर से मिली खामियों के चलते नगरदा पटवारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बताया जाता है कि उक्त पटवारी ने खसरा नंबर 2017-18 का गिरदावली नहीं किया है। खसरा नंबर 3,4 में जमा किए गए रूपए का उल्लेख नहीं है। 2016-17 में सफल का क्षेत्रफल दर्ज नहीं किया है। उक्त कार्य में लापरवाही बरतने वाले ग्राम नगरदा के पटवारी भूपेन्द्र बरेठ को छत्तीसगढ़ सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम 3 के तहत तत्काल प्रभाव से कलेक्टर जेपी पाठक ने निलंबित कर दिया गया है। इस दौरान उन्हें निम्नानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।

Posted By: Nai Dunia News Network