जांजगीरJanjgir News:। बाराद्वार जैजैपुर मार्ग पर संचालित क्रशर से ओवरलोडिंग डोलोमाइट का परिवहन किया जा रहा है। हाइवा में क्षमता से अधिक डोलोमाइट लोड कर रेलवे साइडिंग तक ले जाया जाता है। इस दौरान पत्थर रास्ते भर गिरता है जिसकी वजह से पैदल और वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। वहीं रास्ते में गिरे डोलोमाइट के पत्थरों से दुर्घटना की भी आशंका बनी रहती है। इस तरफ न तो परिवहन विभाग के अधिकारियों द्वारा ध्यान दिया जा रहा है और न ही पुलिस ही कोई कार्रवाई कर रही है।

बस्ती बाराद्वार में नियम कायदो को ताक पर रखकर क्रशर का संचालन किया जा रहा है। क्रशर से हाइवा में डोलोमाइट पत्थर लोडकर रेलवे साइडिंग तक पहुंचाया जाता है। क्रशर संचालक द्वार हाइवा में क्षमता से अधिक डोलोमाइट का परिवहन किया जा रहा है। हाइवा से पत्थर के टुकड़े रास्ते भर गिरते हुए जाते हैं। इसके कारण मार्ग में पैदल और वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। छोटे- छोटे टुकड़े पैदल चलने वालों के पैर में चुभ जाते हैं जिससे वे लहुलुहान हो जाते हैं वहीं वाहनों के पहियों में चुभने से वाहन पंचर हो जाते हैं। ओवरलोड वाहन सड़कों पर बेधड़क दौड़ रही है।

ओवरलोड वाहन के कारण सड़कें भी उखड़ने लगी है। ऐसा नहीं है कि जिले के अधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं है पर किसी के पास इस तरफ देखने तक के लिए समय नहीं है जबकि अधिकारी आए दिन इस मार्ग से होकर गुजरते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि इन संयंत्रों के खिलाफ अनेकों बार अधिकारियों से शिकायत की गई है मगर अब तक कार्रवाई नहीं की गई है जिससे क्रशर संचालक बेखौफ नियमो को ताक पर रखकर परिवहन कर रहे है। वही ग्रामीणों का यह भी आरोप है क्रशर संचालकों की मनमानी के चलते क्षेत्र वासियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

साथ ही शासन को लाखों रुपए राजस्व की हानि पहुंचती है। खुलेआम हो रही रायल्टी चोरी से जिले के खनिज अधिकारी को कोई सरोकार नहीं है। शिकायत के बाद भी ठोस कार्रवाई नहीं होने के कारण ग्रामीणों में आक्रोश है। वही रास्ते में गिरे डोलोमाइट का विरोध करने पर खानापूर्ति करने के लिए मजदूरों से रोड में गिरे पत्थरों को झाडू लगाकर साफ करा दिया जाता है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local