जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। मौसम मेंबदलाव व बारिश की संभावना के चलते जिले मेंचार दिन तक धान खरीदी केन्द्रों मेंन तो टोकन काटा जाएगा और न ही धान की खरीदी होगी। सभी केन्द्रों में पहले से खरीदे गए धान को ढककर सुरक्षित रखने को कहा गया है। ऐसे में शनिवार व रविवारों को छोड़कर मात्र 11 दिन ही धान खरीदी होगी।

संभावित बारिश की चेतावनी के चलतेजिला सहकारी केन्द्रीय बैंक केनोडल अधिकारी ने सभी शाखा प्रबंधक व पर्यवेक्षकों को आदेश जारी किया है, जिसमें कहा गया है कि मौसम विभाग की भविष्यवाणी को देखते हुए 9 से 12 जनवरी तक न तो धान खरीदी करें और न ही टोकन जारी करे। सभी शाखा प्रबंधकों को उनके अधीनस्थ खरीदी केन्द्रों मेंपूर्व में खरीदे गए धान को स्टेक बनाकर सुरक्षित रूप से ढककर रखने व पानी निकासी के लिए ड्रेनेज बनाने का निर्देश दिया गया है। ज्ञात हो कि कुछ दिन पहले एक बार बारिश होने से धान भीग गया था। जिले में अब तक 59 लाख 50 हजार क्विंटल धान की खरीदी हुई है इसमें से 31 लाख 15 हजार क्विंटल धान का उठाव हो चुका है। जबकि विभिन्न केन्द्रों में 28 लाख क्विंटल धान जाम हैं। ऐसे में बारिश होने पर धान भीगे मत इसे देखते हुए विभाग द्वारा सावधानी बरती जा रही है। हालांकि दो दर्जन से अधिक खरीदी केन्द्रों में बफर स्टाक भी हैजिसके चलते इन केन्द्रों मेंधान जहां तहा रखे गये हैं। ऐसे में सभी धान के लिए तिरपाल या कैप कव्हर की व्यवस्था कर पाना संभव नहीं है। क्योंकि कई केन्द्रों में बफर स्टाक के दो गुना तक धान जाम हैं। ऐसे में इन केन्द्रों के प्रभारियों की चिंता परिवहन की गति धीमी होने को लेकर है। बहरहाल नोडल अधिकारी के आदेश के बाद केन्द्र प्रभारी अब खरीदे गए धान की सुरक्षा में जुट गए हैं। जिले में 2 लाख से अधिक किसानों ने धान बिक्री के लिए पंजीयन कराया है। इनमें से 1 लाख 41 हजार किसान धान बेच चुके हैं। प्रदेश भर में सर्वाधिक धान खरीदी इसी जिले में होती है। इस साल भी 90 लाख क्विंटल धान खरीदी का लक्ष्य है, जबकि 58 लाख क्विंटल से अधिक धान की खरीदी हो चुकी है। इस तरह 65 प्रतिशत धान की खरीदी पूर्ण हो गई है।

12 दिन ही होगी खरीदी

जिले में चार दिन धान खरीदी बंद किये जाने से 12 कार्यदिवसों में ही धान की खरीदी होगी। क्योंकि इस बीच दो शनिवार व दो रविवार के अलावा गणतंत्र दिवस के दिन धान की खरीदी नहीं होगी। ऐसे में जिन खरीदी केन्द्रों में अधिक धान खरीदी करना हैवहां समस्या हो सकती है। हालांकि विभाग के अधिकारी इतने दिन को लक्ष्य प्राप्ति के लिए पर्याप्त बता रहे हैं।

'जिले में 31 लाख क्विंटल धान का उठाव हो चुका है। 28 लाख क्विंटल धान केन्द्रों में जाम हैं परिवहन लगातार हो रहा है। पर्याप्त मात्रा में डीओ भी काटे गए हैं। बारिश के चलते चार दिन खरीदी नहीं होने पर भी बचे कार्यदिवसों में पूरा धान खरीद लिया जाएगा। अधिकतम यहां 30 लाख क्विंटल धान और खरीदी जाएगा।

सुनील राजपूत

जिला विपणन अधिकारी

' बारिश की चेतावनी के चलते 9 से 12 जनवरी तक टोकन काटने और धान खरीदी नहीं करने का आदेश जारी किया गया है। जिले में अभी साढ़े तीन लाख क्विंटल धान का टोकन कटा हैजिसका तौल होना है। पहले से खरीदे गए धान की सुरक्षा का ि नर्देश दिया गया है।

अश्वनी पाण्डेय

नोडल अधिकारी

जिला सहकारी बैंक, जांजगीर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local