जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जिले के पंचायत सचिवों को चार माह से वेतन नहीं मिला है। इसके चलते उनके सामने आर्थिक समस्या खड़ी हो गई है। छग प्रदेश पंचायत सचिव संघ की जिला इकाई ने इस संबंध में जिला पंचायत सीईओ को ज्ञापन भी सौंपा है।

ज्ञापन में उन्होंने कहा है कि पंचायत सचिवों को प्रत्येक माह पांच तारीख तक वेतन भुगतान करने का आदेश है। मगर चार माह से वेतन नहीं मिला है। इसके अलावा पंद्रह साल पूर्ण कर चुके पंचायत सचिवों को पंचायत सचिव वर्ग में पदोन्नति आदेश लंबे समय से जारी नहीं किया जा रहा है। आपसी सहमति से ग्राम पंचायत सचिवों के स्थानांतरण के लिए जनपद से अनुमोदन पश्चात भी स्थानांतरण व पदस्थापना आदेश जारी नहीं किया जा रहा है। अंशदायी पेंशन की राशि भी वर्ष 2012 से सिंतबर 2020 तक कटौती नहीं की गई है। जिसकी गणना कर किश्तो में पंचायत सचिवों के वेतन से राशि काटकर जमा करने की मांग की गई है। पंचायत सचिवों की मृत्यु होने पर उनके आश्रित सदस्यों को अनुकंपा नियुक्ति का प्रकरण जिला पंचायत में लंबित है। इसका शीघ्र निराकरण करने सहित लंबे समय से निलंबित पंचायत सचिवों को बहाल करने की मांग संघ ने की है। संघ के जिलाध्यक्ष ठाकुर भूपेंद्र सिंह और सचिव कृष्णकुमार चंद्रा ने बताया कि डेढ़ दर्जन से अधिक पंचायत सचिव पात्र होने के बाद भी पदोन्नति से वंचित हैं। इसी तरह मालखरौदा ब्लाक के पंचायत सचिव शिवदयाल यादव दिसंबर 2021 में सेवानिवृत्त हो चुके हैं। उनको अक्टूबर से दिसंबर 2021 तक के वेतन एवं एरियर्स की राशि का भुगतान अब तक नहीं किया गया है। पंचायत सचिवों के सभी समस्याओं के निराकरण की मांग संघ ने की है। दीपावली जैसे बड़े त्यौहार में भी सचिवों को वेतन नहीं मिला है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local