जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। सोमवार की शाम पश्चिम दिशा में चंद्रमा शुक्र और शनि एक दूसरे के निकटतम रहे। लोगों ने इस खगोलीय घटना को देखा। 23 जनवरी की शाम ढलते आसमान के दक्षिण पश्चिम दिशा में यह नजारा दिखाई दिया , जिसमें चंद्रमा शुक्र और शनि एक दूसरे के नीचे काफी निकट दिखे। शाम 6 बजे के बाद आपस में मिलते दिखते ये दोनों ग्रह और पृथ्वी के उपग्रह चंद्रमा की युति देखकर लोग आश्चर्यचकित हुए। विद्या भारती के संवाद प्रमुख संस्कार श्रीवास्तव ने बताया गया कि इसका संबंध्ा ज्योतिष से भी है। 23 जनवरी को द्वितीया तिथि थी।

गणना के अनुसार चंद्रमा कुंभ राशि में 27 अंक 2 कला पर रहा। उसकी चमक 16 अंश 59 कला दक्षिण पर रही। शुक्र ग्रह कुंभ राशि में 25 अंश 13 कला पर थी। उसकी चमक 14 अंश 29 कला दक्षिण रही। शनि भी कुंभ राशि पर 24 अंश 50 कला पर रहे। उनकी चमक 14 अंश 25 कला दक्षिण रही।

इस तरह चंद्रमा के नीचे शुक्र शनि नजर आए। विद्या भारती ने इसका प्रचार-प्रसार कर लोगों में खगोल शास्त्र के प्रति जागरूकता लाने के लिए किया। प्रदेश के अधिकांश सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल के विद्यार्थियों ने भी इस खगोलीय घ्ाटना को खुले आंखोंसे देखा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close