जैजैपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जैजैपुर में अव्यवस्था की जानकरी मिलने पर आज सीएमएचओ सीएचसी पहुंचे और यहां मौके का निरीक्षण किया। परिसर में पᆬैली अव्यव्स्था को सीएमएचओ ने नाराजगी हाजिर करते हुए यहां पदस्थ डॉक्टरों को अस्पताल पहुंचे मरीजों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

बारिश के मौसम शुरू होने के साथ ही सर्दी, खांसी, उल्टी-दस्त, बुखार जैसे बीमारी के होने का खतरा बढ़ गया है। अस्पताल में इन दिनों बड़ी संख्या में मरीज ईलाज कराने पहुंच रहे हैं। यहां ओपीडी में रोजाना सैकड़ों की संख्या में मरीज ईलाज कराके वापस लौट जा रहे हैं। यहां अस्पताल प्रबंधन की उदासीनता के चलते सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे मरीज व उनके परिजनों को उपचार के लिए भटकना पड़ रहा है। यहां अस्पताल प्रबंधन की उदासीनता का खामियाजा वार्ड में भर्ती मरीज व उनके साथ पहुंचे मरीजों को भुगतना पड़ रहा है। राज्य शासन द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए लाखों रूपये खर्च करने के बावजूद क्षेत्रों के सरकारी अस्पताल बदहाल है। यहां ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचे मरीज व उनके परिजनों को दिक्कतों का सामना कर पड़ रहा है। यहां लाखों रूपये से निर्मित भवन व पर्याप्त संसाधन होने के बाद भी अब तक मरीजों को स्वास्थ्य सुविधा लेने के लिए निजी अस्पतालों की ओर भटकना पड़ रहा है। शासकीय अस्पतालों में अधिकांश ग्रामीण व आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग उपचार कराने पहुंचते हैं, मगर यहां अस्पताल प्रबंधन की उदासीनता के चलते उन्हें बेहतर उपचार के लिए भटकना पड़ रहा है। वहीं राज्य शासन द्वारा उपचार के लिए सरकारी अस्पताल पहुंचे मरीजों को पोषणयुक्त भोजन उपलब्ध कराये जाने के लिए मेनू तैयार कर इसका नियमित भोजन वितरण करने का निर्देश दिया गया है। जिसके चलते उन्हें पोषण आहार का वितरण किया जाना है, मगर यहां अस्पताल प्रबंधन की उदासीनता व केंटीन संचालक की मनमानी के चलते उन्हें गुणवत्ताहीन भोजन दिया जाता है। यहां कैंटिन संचालक द्वारा नियमित दाल, चावल, सब्जी के वितरण किया जाता है। नईदुनिया द्वारा 13 सितम्बर के अंक में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जैजैपुर की अव्यवस्था को लेकर ''बीमार अस्पताल, मरीज बदहाल'' शीर्षक से प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया गया था। मामले को गंभीरता से लेते हुए आज सीएमएचओ डॉ आरएस जोशी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जैजैपुर पहुंचे और मौके का निरीक्षण किया। यहां अव्यवस्था को देख उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए अधिकारियों को व्यवस्था सुधारने का निर्देश दिया।