बलौदा । थाना से महज दो सौ मीटर दूर रात 11 बजे युवक पुांसी लगा रहा था। युवक की मां ने देखा तो वह दौड़ते हुए थाने पहुंची और बेटे के पुांसी पर लटकने की जानकारी थाना प्रभारी सहित स्टापु को दी और बेटे को बचाने गुहार लगाई। पुलिस ने भी तत्परता दिखाई और तुरंत घर पहुंचकर पुांसी पर लटक रहे युवक को नीचे उतारा और उपचार के लिए सीएससी बलौदा में भर्ती कराया गया जहां से उसकी गंभीर हालत को देखते हुए बिलासपुर रेपुर किया गया है जहां एक निजी अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। युवक किस वजह से पुांसी लगा रहा था इसका पता अभी नहीं चल सका है।

थाना प्रभारी गोपाल सतपथी ने बताया कि रात्रि लगभग 11 बजे थाना से महज दो सौ मीटर दूर निवासरत मुकेश वैष्णव की मां फिरतीन बाई दौड़ कर थाना आई और बताया कि उसका पुत्र मुकेश वैष्णव घर के आंगन में अमरूद के पेड़ पर गमछा से फंदा बना कर फांसी पर लटक रहा है। जिस पर थाना में उपस्थित प्रध्ाान आरक्षक गजाधर पाटनवार, आरक्षक संतोष रात्रे दौड़ते हुए मुकेश वैष्णव के घर पहुंचे और फंदे में लटक रहे मुकेश को घर के अन्य सदस्यों की सहयोग से नीचे उतारा गया।

थाना के पेट्रोलिंग वाहन से प्राथमिक उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बलौदा ले जाकर भर्ती कराया गया । प्राथमिक उपचार के बाद उसे बिलासपुर रिफर किया गया। जहां उसका उपचार लाईफ केयर अस्पताल बिलासपुर में कराया जा रहा है। वर्तमान में मुकेश वैष्णव स्वस्थ है। थाना प्रभारी सतपथी ने बताया कि युवक किस वजह से पुांसी लगा रहा था इसका पता अभी नहीं चल सका है। युवक की अभी शादी नहीं हुई है। अभी युवक का बयान नहीं लिया जा सका है। स्वस्थ्य होकर आने के बाद युवक से पूछताछ की जाएगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close