जांजगीर-चांपाjanjgir champa News। सभी धान खरीदी केंद्र प्रभारियों को निर्देशित करते हुए कलेक्टर जितेंद्र कुमार शुक्ला ने कहा कि वे एक दिसंबर से जीरो शार्टेज का लक्ष्य रखकर समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी शुरू करें। साथ ही समर्थन मूल्य पर गत वर्ष जीरो शार्टेज पर धान खरीदी करने वाली समितियों को उन्होंने प्रोत्साहित किया। उन्होंने धान बेचने केंद्र में आने वाले पंजीकृत किसानों की सुविधा के लिए समुचित व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा ताकि केंद्र में उन्हें सुखद अनुभव हो।

कलेक्टर जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने जिला पंचायत कार्यालय में खरीफ विपणन वर्षीय 2021-22 के समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की पूर्व तैयारी की समीक्षा। बैठक में गत वर्ष जीरो शार्टेज देने वाले समिति प्रबंधकों, प्रभारियों और आपरेटरों को प्रोत्साहित करते हुए सभाकक्ष में उनके सम्मान में तालियां बजवाई। उन्होंने कहा कि गत वर्ष जीरो शार्टेज वाले समिति प्रबंधकों, प्रभारियों और आपरेटरों को सम्मानित करने के लिए उनकी फोटो वाले फ्लेक्स उपार्जन केंद्रों में लगाए जाएंगे। जिससे अन्य समितियों को भी उनसे प्रेरणा मिल सके। उन्होंने कहा कि इस वर्ष जिले के सभी उपार्जन केंद्रो में जीरो शार्टेज का लक्ष्य लेकर धान खरीदी की जाएगी।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के निर्धारित मापदंड के अनुसार समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की जाएगी। धान बेचने आए किसानों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए जिले के सभी उपार्जन केंद्रों में आदर्श उपार्जन केंद्र जैसी व्यवस्था उपलब्ध कराई जाएगी। कलेक्टर ने कहा कि वर्ष भर मेहनत करने वाले अन्नादाता किसानों को धान बेचने के दौरान सुखद अनुभूति होनी चाहिए। कलेक्टर ने बताया कि सभी उपार्जन केंद्रों की मांग के अनुरूप बारदाना उपलब्ध कराया जा रहा है। केंद्रों में आगामी एक सप्ताह के लिए बारदाना उपलब्ध रहेगा। इसके अलावा 25 प्रतिशत बारदाना किसानों से भी ली जाएगी।

उन्होंने कहा कि सभी उपार्जन केंद्रों में मूलभूत तैयारी 26 नवंबर तक पूर्ण कर लें। उन्होंने कहा कि वे स्वयं उपार्जन केंद्रों के औचक निरीक्षण के लिए जाएंगे। जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों द्वारा केंद्रों का सतत निरीक्षण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी केंद्रों में पहुंच मार्ग, आहाता, विद्युत, कम्प्यूटर, टोकन व्यवस्था, आर्द्रता मापी, तौल मशीन, हमालों आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कर लें। कलेक्टर ने कहा कि खरीदे गये धान के बारदानों की सिलाई उसी दिन हो यह सभी केंद्र सुनिश्चित करें।

इसके अलावा मापदंड के अनुसार स्टेकिंग और धान की सुरक्षा के लिए डबल लेयर ड्रेनेज और तिरपाल आदि की भी व्यवस्था सभी केंद्रों में होनी चाहिए। कलेक्टर ने कहा कि उपार्जन केंद्रों में वास्तविक पंजीकृत किसानों को धान विक्रय में पूरा सहयोग किया जाएगा। गड़बड़ी करने वाले कोचिए और बिचौलियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इन पर निगरानी के लिए जिला, ब्लाक और तहसील स्तर पर निगरानी समिति का गठन किया गया है। बैठक में जिला खाद्य अधिकारी, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के नोडल अधिकारी, जिला विपणन अधिकारी, प्रबंधक नान, जिला पंजीयक, सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख, सहित विभिन्ना समितियों के प्रबंधक, प्रभारी और आपरेटर उपस्थित थे।

--

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local