सक्ती। (नईदुनिया न्यूज)। सक्ती ब्लाक अंतर्गत ग्राम सकरेलीकला में मनरेगा के माध्यम से गोठान का निर्माण कराना जाना है, लेकिन सरपंच द्वारा यहां 14 वें वित्त ग्राम विकास की राशि से समतलीकरण कार्य कराया जा रहा है, जो नियम विरूद्घ है। साथ ही सरपंच द्वारा समतलीकरण का कार्य जेसीबी से कराया जा रहा है। जिसमें मजदूरों को लाभ नहीं मिल रहा है।

ग्राम सकरेलीकला में मनरेगा से लगभग 10 लाख की लागत से गोठान का निर्माण तथा 1 लाख 24 हजार की लागत से मनरेगा से ही चारागाह का निर्माण कराना है। मनरेगा अंतर्गत तालाब गहरीकरण का कार्य प्रगति पर है। केन्द्र और राज्य सरकार मजदूरों को काम मिल सके उसके लिए अपने अपने स्तर में कार्य आबंटित कर रहे है। सकरेलीकला सरपंच डमरूधर साहू द्वारा 14 वें वित्त के राशि का दुरूपयोग कया जा रहा है। सकरेलीकला के सरपंच द्वारा गोठान के लिए प्रस्तावित स्थान पर ही 14 वें वित्त की राशि से समतलीकरण कराया जा रहा है, जबकि गोठान निर्माण और समतलीकरण के लिए मनरेगा से पहले ही स्वीकृति 2019-20 में ली चुकी है। वहीं समतलीकरण के नाम पर सरपंच द्वारा जेसीबी का उपयोग किया जा रहा है। जबकि वर्तमान स्थिति में मजदूरों को ज्यादा से ज्यादा काम मुहैया कराना है लेकिन सरपंच द्वारा नियमों को ताक में रख जेसीबी के माध्यम से कार्य कराना अपने आप में एक अमानवीय कृत्य को दर्शाता है। साथ ही गोठान निर्माण स्थल पर जेसीबी से भूमि समतलीकरण का कार्य सरपंच द्वारा कराया जा रहा है उसमें भी न तो प्रशासकीय स्वीकृति ली गई है और नहीं तकनीकी स्वीकृति ली गई है। इस संबंध में सरपंच से बात करने पर उन्होंने कहा कि उक्त कार्य पंचायत के मद से कराया जा रहा है। किस मद से कराया जा रहा है यह सरपंच ने भी नहीं बताया वहीं तकनीकि सहायक ने उक्त कार्य को 14 वें वित्त से कराए जाने की बात कही है। उक्त कार्य में जो मिट्टी निकल रही है। उनमें से बाकी मिट्टी को सरपंच द्वारा बेचने की भी बात सामने आ रही है। क्योंकि उक्त कार्य स्थल में जेसीबी द्वारा मिट्टी खोद कर ट्रेक्टर में लोड किया जा रहा है, और ट्रेक्टर द्वारा गांव के पास ही गोदाम निर्माण के कार्य में उक्त मिट्टी की फिलिंग की जा रही है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना