डभरा । जनपद पंचायत डभरा क्षेत्र के ग्राम पंचायत परसापाली में पूर्व में पदस्थ सचिव मदन सुन्दर राणा पर बिना प्रभार के बाद भी ग्राम पंचायत परसापाली के बैंक खातों से सरपंच का फर्जी हस्ताक्षर कर राशि निकालने का आरोप सरपंच कंसराम एवं उपसरपंच परमांद ने लगाते हुए कलेक्टर और डभरा एसडीएम व जनपद सीईओ से इसकी शिकायत की है।

मदनसुंदर राणा ग्राम पंचायत परसापाली के सचिव के पद पर पदस्थ थे। 27 जनवरी 2022 से लंबी अवधि के लिए अवकाश पर चले जाने के कारण 28 जनवरी 2022 को ग्राम पंचायत परसापाली के कार्य सुचारू रूप से संचालन के लिए सदानंद कुर्रे को आगामी आदेश पर्यन्त अस्थायी रूप से पंचायत के सचिव का प्रभार सौंपा गया था। मदन राणा द्वारा ग्राम पंचायत परसापाली का प्रभार सदानंद कुर्रे को सौप दिया गया था। पूर्व सचिव द्वारा प्रभार सौंपने के बाद भी इंडियन बैंक शाखा डभरा से 16 अगस्त 2022 को 65 हजार रूपये एवं 8 सितंबर 2022 को 55 हजार रूपये फर्जी हस्ताक्षर कर मुलभूत की राशि आहरण कर लिया। सरपंच को इसका पता तब चला जब 12 सितंबर को वह बैंक जाकर पासबुक में एंट्री कराया गया। इस तरह ग्राम पंचायत परसापाली के प्रभार में नहीं रहते हुए 1 लाख 20 हजार रूपये सरपंच के फर्जी हस्ताक्षर से राशि आहरण कर लिया। इसके पूर्व भी ग्राम पंचायत सचिव थे तब भी उन पर 15 वें वित्त की राशि को फर्जी तरीके से अपनी पत्नी के नाम पर आहरित करने का आरोप है। सरपंच, सचिव ने उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। वहीं ग्रामीणों ने भी सरपंच, सचिव की मांगों का समर्थन करते हुए गांव में ग्राम सभा बुलाकर इसमें प्रस्ताव पास करने व सभी ग्रामीण एकजुट होकर कलेक्टर में मिलकर दोषी सचिव पर कार्रवाई किए जाने की मांग करने का भी निर्णय लिया है। ग्रामीणों की मांग है कि दोषी सचिव पर सिर्फ कार्रवाई ही नहीं उनसे गड़बड़ी की राशि भी वसूले जाने की मांग की है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close