जांजगीर चांपा। नईदुनिया न्यूज। जैजैपुर तहसील के मुक्ता के ग्रामीणों को जम्मू कश्मीर के कठुवा के ईंट भठ्ठी में बंधवा बनाए जाने की शिकायत करते हुए परिजनों ने उन्हें मुक्त कराने की मांग पुलिस से की गई है।

पलायन की पीड़ा से जिला उबर नहीं पा रहा है। तीन दिन पहले आतंकवादी की गोली से बंसुला के एक ग्रामीण की मौत हुई है। वहीं जैजैपुर तहसील के मुक्ता के लगभग दो दर्जन ग्रामीणों को ईंट भठ्ठा मालिक द्वारा बंधक बनाए जाने की शिकायत परिजनों ने श्रम विभाग व पुलिस से की है। शिकायत में बताया गया है कि बंधक बने लोगों में महिला-पुरूष व बच्चे भी शामिल है। उन्हें मजदूरी नहीं दी जा रही है ना ही घर आने दिया जा रहा है। बंधक बने लोगों में ग्राम मुक्ता के कलाराम बघेल पिता देवदास बघेल, योगेंन्द्र बघेल, राजेन्द्र बघेल, जमीला बघेल पिता कलाराम, किशोर कुमार केवंट पिता भागवत केंवट, दुलौरिन बाई पति किशोर कुमार, रिषभ पिता किशोर कुमार, राजकुमार महिलागें पिता लक्षमण महिलागें, बबलू कुमार, पिता लक्ष्मण महिलागें, विशाल पिता राजकुमार, गंगा बाई पति राजकुमार, कामता प्रसाद उसका भाई जगदीश पिता देवदास बघेल, बंटोरी बाई पति कांता प्रसाद, साहिल कुमार, प्रीति, हरिबंश बघेल, श्याम लाल, कान्हैया, रामशीला बाई, सुमन कुमारी, शिवानी कुमारी, चांदनी शामिल हैं। सभी ईट भठटा मे काम करने के लिये ग्राम बकराक थाना राजबाग तहसील खानपुर जिला कठुआ में गांधी भठठा में ईट बनवाने के लिए जमादार खडकु पिता जिजोधन ग्राम पंचायत पिहरीद थाना मालखरौदा के माध्यम से गए थे। मगर इन्हें उसके कहे अनुसार मजदूरी व सुविधा नहीं मिल रही है। परिजनों ने इन्हें मुक्त कराने की गुहार लगाई है।

Posted By: Nai Dunia News Network