जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जिले में कोरोना की तीसरी लहर और नए वेरियंट ओमिक्रान से सुरक्षा, बचाव और उपचार के लिए समुचित उपाय किये गए हैं। वर्तमान में कोरोना के नए वेरिएंट को ओमिक्रॉन के नाम से पहचाना गया है। इसके भी शुरुआती लक्षण सर्दी, बुखार, गले में खराश जैसे, पहले की तरह ही हैं। जिला प्रशासन के द्वारा कोरोना से बचाव, रोकथाम एवं उपचार के लिए हरसंभव तैयारी की गई है। टीकाकरण, मास्क लगाना और शारीरिक दूरी के पालन संक्रमण से बचाव के लिए विशेष प्राथमिकता दी जा रही है। पात्र हितग्राहियों का लगातार टीकाकरण किया जा रहा है।

जिले में कुल 11 लाख 31 हजार 194 हितग्राहियों को कोरोना सुरक्षा का प्रथम डोज का टीका लगा। इनमें से 6 लाख 4 हजार 201 हितग्राहियों को दूसरा डोज का टीका लगाया जा चुका है। 18 वर्ष से अधिक आयु के 10 लाख 66 हजार 741 हितग्राहियों को प्रथम डोज का और 6 लाख 4 हजार 201 हितग्राहियों को दूसरी डोज का टीका लगाया जा चुका है। इसी प्रकार 15 से 18 वर्ष तक के 64 हजार 453 किशोरों को प्रथम खुराक का टीका लगाया जा चुका है। जिले में 14 फ्रंटलाईन वर्कर, हेल्थ वर्कर और 60 वर्ष से अधिक आयु के कुल 193 हितग्राहियों को प्रिकाशन डोज का टीका लगाया जा चुका है।

टीके का दोनों डोज लगवाना अनिवार्य

सीएमएचओ डा. एसआर बंजारे ने बताया कि कोरोना के सुरक्षा संबंधी प्रोटोकाल का पालन करना जरूरी है। कोरोना से बचने के लिए टीके का दोनों डोज लगवाना भी अनिवार्य है। जिन्होंने पहला डोज लेकर छोड़ दिया है। उन्हें चिन्हाकित कर दूसरा डोज का टीका लगाया जा रहा है। विगत 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष के उम्र के किशोर-किशोरियों के लिए टीकाकरण शुरू हो गया है। इसके अलावा फ्रंट लाईन वर्कर, हेल्थ केयर वर्कर और 60 साल से अधिक उम्र वाले गंभीर बीमारी से पीड़ित हिताग्राहियों का प्रिकाशन डोज का टीकाकरण भी प्रारंभ हो गया है। शतप्रतिशत टीकाकरण होने से ही हम सब कोरोना से सुरक्षित हो सकेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local