कोरबा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा ने पदभार ग्रहण करने के तत्काल बाद कार्यालय के सभागार में पुलिस अफसरों की बैठक लेकर जिले में चल रहे लॉकडाउन की व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने खास तौर पर कहा कि जितने भी बाहर से आए लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है, उन पर निगाह रखा जाए। यह देखा जाए कि क्वारंटाइन के नियमों का पालन घरों में ही रहकर किया जा रहा है या नहीं। इसके अलावा एसपी ने जिले में संचालित औद्योगिक प्रतिष्ठानों से भी छह महीने के अंदर विदेश जाने व आने वाले लोगों की सूची मांगे जाने की बात कही है। पुलिस यह भी देखेगी कि औद्योगिक प्रतिष्ठानों में कर्मचारी निर्धारित दूरी बनाकर काम कर रहे हैं या नहीं। सैनिटाइज मास्क की व्यवस्था कराई गई है या नहीं।

एसपी मीणा बुधवार की शाम कोरबा पहुंच गए थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि उनकी प्राथमिकता क्राइम कंट्रोल करने के साथ अपराधों की जांच कर उनका शीघ्र निराकरण किया जाना होगा। उन्होंने कहा कि जिले में बेसिक पुलिसिंग को मजबूत करते हुए महिला सुरक्षा पर फोकस किया जाएगा। उन्होंने शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने की दिशा पर भी पहल करने की बात कही है। उन्होंने बताया कि फिलहाल पूरे विश्व व देश में वैश्विक महामारी कोरोना को लेकर लॉकडाउन किया गया है। इसका पालन करना पुलिस की महती जिम्मेदारी है। लोगों को सजग व जागरूक कर सुरक्षा व सावधानी के निर्देशों का पालन कर इस वैश्विक महामारी से निपटने का प्रयास किया जाएगा। बैठक में सभी थाना-चौकी प्रभारी व वरिष्ठ अफसर उपस्थित थे।

-धुर नक्सली क्षेत्रों में रही पोस्टिंग

2010 बैच के आइपीएस अभिषेक मीणा मूलतः राजस्थान के रहने वाले हैं। आइआइटी मुंबई से ग्रेजुएशन हासिल करने के बाद वे यूपीएससी की तैयारी के लिए दिल्ली चले गए थे, जहां उनका आइपीएस के लिए चयन हो गया। उनकी पहली पोस्टिंग धुर नक्सली क्षेत्र कोंडागांव में हुई, जिसके बाद वे नारायणपुर, सुकमा जैसे नक्सली क्षेत्र में भी रहे, जहां उन्होंने नक्सलियों को धूल चटाई। साथ ही बिलासपुर में भी उनकी तैनाती रही है। इससे पूर्व मीणा सीटीजेडब्ल्यू कांकेर में सेनानी के रूप में पदस्थ थे, जहां से उनका तबादला पुलिस अधीक्षक कोरबा के रूप में किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network