बलौदा (नईदुनिया न्यूज)। धान खरीदी के लिए पंजीयन में संशोधन कराने वाले किसानों का रकबा शून्य दिखाए जाने से वे मायूस हो गए और बिना टोकन कटवाए बैरंग लौट गए। जबकि उनके नाम पर जमीन है और वे कई सालों से धान बेचते आ रहे हैं। किसानों ने रकबा में सुधार कर धान खरीदे जाने की मांग की है।

बलौदा ब्लाक के ग्राम कोरबी स्थित धान खरीदी केंद्र में धान खरीदी के लिए संशोधित पंजीयन का रकबा शून्य दिखाए जाने किसान परेशान हैं। धान खरीदी के दूसरे दिन किसान टोकन कटवाने के लिए जब केंद्र पहुंचे तो पता चला उनकी जमीन ही कम्प्यूटर में शून्य दिखा रहा है। ऐसे में बहुत से किसान अपना धान को कैसे बेचे यह बड़ी समस्या आ गई है। बलौदा सहकारी बैंक के अंतर्गत समिति कोरबी में एक दिसम्बर से धान खरीदी की सभी तैयारियां के साथ सभी किसानों के पंजीयन की सूची चस्पा की गई । दूसरे दिन जब किसान अपना धान बिक्री के लिए टोकन कटवाने पहुंचे तो कई किसानों का जमीन का रकबा शून्य दिखा । ऐसे में उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। रकबा शून्य होने के चलते किसानों का टोकन नहीं कट सका और वे मायूस होकर घर चले गए। किसानों को अपनी उपज को बेचने के लिए मशक्कत करना पड़ रहा है। धान खरीदी केंद्र कोरबी के अंतर्गत बहुत से किसान ऐसे हैं जिन्होंने पंजीयन में संशोधन के लिए सभी दस्तावेज जमा किए थे। मगर संशोधन तो दूर उल्टा उनकी जमीन ही गायब हो गई और रकबा शून्य दिखा रहा है। खरीदी केंद्र के बाहर लगी सूची को देखकर किसानों की चिंता बढ़ गई है कि वे अब अपना धान कहां और कैसे बेचेंगे। इन किसानों में कोरबी निवासी रामजी देवप्रसाद, हेमंत शिवकुमार, शांति बाई गोपाल, संदीप गोपाल, कार्तिक छोटू, लक्ष्मी गोवर्धन, नारायण राम , अचानकपुर निवासी सुरीत चरनदास, टीकाराम छेदु, नीतीश टीकाराम, देवप्रसाद मंगल, तेरस बाई बडू राम कोरबी, देवप्रसाद तेजीराम बिरगहनी , जितेन्द्र गोविंद डोंगरी, अशोक दऊवा अचानकपुर, प्रहलाद सबदुराम सोनबरसा, रविशंकर रामजी डोंगरी, धनकुंवर चैनसाय सोनबरसा, सोनसाय संतोष ग्राम डोगरी , सुरेश कुंजराम डोंगरी, जगबाई रामगोपाल डोगरी, दशरथ बुद्घ डोगरी, सुमीत समेलाल कोरबी, अयोध्या रामजी डोंगरी, अर्जुन भगत कोरबी, रामप्रसाद भवरी कोरबी, गंगाबाई मालिकराम कोरबी, शंकरलाल बैगा कोरबी का जमीन का रकबा शून्य दिखा रहा है । इसके चलते इनका टोकन नहीं कटा। ये किसान अपना धान नहीं बेच पाए । जबकि धान तैयार है। इसी तरह अन्य कई किसानों का रकबा शून्य दिख रहा है। ऐसे में वे इसमें सुधार कराने सरकारी कार्यालयों का चक्कर काट रहे हैं।

'' किसानों की जमीन का रकबा पोर्टल में गड़बड़ी के कारण शून्य दिखा रहा है । कई किसानों का पंजीयन दूसरे केंद्र में दिखा रहा है, इसमें शीघ्र ही सुधार कर लिया जाएगा। किसानों को परेशानी नहीं होगी।

रवि बैष्णव

शाखा प्रबंधक

जिला सहकारी केंद्रीय मर्यादित बैक शाखा बलौदा

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local