जांजगीर। कुछ असामाजिक तत्वों ने दरिंदगी दिखाते हुए गाय के पैर व मुंह को बोरे में बांधकर सोन नदी में फेंक दिया। गाय तैर कर निकलने का प्रयास करती रही। मगर इन दरिंदों को दया तक नहीं आई और अंतत: वह नदी में बह गई। इंटरनेट मीडिया में इसका वीडियो वायरल हो रहा है। शिकायत पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ नामजद व अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

हसौद थाना क्षेत्र के ग्राम लालमाटी में कुछ असामाजिक तत्वों ने गाय के चारों पैर को रस्सी से बांध दिया और मुंह को बोरी से ढककर उसे उफनती सोन नदी में फेंक दिया। इसके पहले पुल के ऊपर इन दरिंदों ने गाय के साथ लाठी से मारपीट भी की। नदी में फेंकने के बाद गाय ने तैरकर बचने का प्रयास किया, मगर सिर में बोरी बंधी होने के कारण न तो वह देख सकी न ठीक से सांस ले पाई। आखिर वह नदी में बह गई। गुरुवार की सुबह जब इसका वीडियो वायरल हुआ तो लोग आक्रोशित हुए और भारतीय जनता युवा मोर्चा के शिवम जायसवाल, भाजयुमो के हसौद मंडल महामंत्री संजय यादव, उपाध्यक्ष अभिषेक कश्यप ने थाने में शिकायत की।

उन्होंने दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की। शिकायतकर्ताओं ने लालमाटी निवासी राहुल खुंटे, कमलकिशोर खुंटे, किरन जाटवर और कुलदीप का नाम शिकायत पत्र में लिखा है। पुलिस ने इस मामले में धारा 429 व कृषक पशु संरक्षण अधिनियम 4, 10 व पशु क्रूरता निवारण अधिनियम की धारा 11 के तहत कमल किशोर खुंटे, राहुल खुंटे और किरन जाटवर तथा अन्य लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज किया है। इस मामले में हसौद थाना प्रभारी योगेश पटेल का कहना है कि तीन लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। टीम गांव भी गई थी। आरोपितों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close