जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। केएसके पावर प्लांट के भूविस्थापित कर्मचारी ने प्लांट के अंदर पᆬांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने उसके जेब से एक सुसाइड नोट बरामद किया है जिसमें उसने केएसके प्रबंधन से हर महीने अपने घर वालों को 20 हजार रूपए महीना देने का आग्रह करने के साथ ही अपने घर वालों से बहुत प्यार करने की बात लिखी है। प्रबंधन ने मृतक की पत्नी को नौकरी, पांच लाख रूपए मुआवजा और उसके बेटे की पढ़ाई लिखाई का पूरा खर्च उठाने की बात कही है। मामला मुलमुला थाना का है।

जानकारी के अनुसार केएसके पावर प्लांट में ग्राम रोगदा निवासी हुकुम सिंह मरावी (35) हाऊस कीपर के पद पर कार्यरत था। पिछले आठ दस दिनों से वह काम पर नहीं आ रहा था। मंगलवार की सुबह 9 बजे वह काम पर आया और पंच मशीन में हाजरी लगाने के लिए पंच करने गया, मगर पंच नहीं हुआ। बाद में उसे पता चला कि उसके आईडी को लाक कर दिया गया है। इसके बाद उसने सीढ़ी में अपने गमछे से पᆬांसी लगा ली। वहां काम कर रहे कर्मचारियों की नजर उस पर पड़ी। उन्होंने इसकी सूचना प्लांट प्रबंधन और पुलिस को दी। सूचना मिलने पर मुलमुला और अकलतरा पुलिस और उसके स्वजन प्लांट पहुंचे।

पुलिस ने शव का पंचनामा किया। इस दौरान पुलिस ने उसकी जेब की तलाशी ली जिसमें एक सुसाइड नोट मिला। जिसमें उसने केएसके प्रबंधन से हर महीने अपने घर वालों को 20 हजार रूपए महीना देने का आग्रह किया था। साथ ही अपने घर वालों से बहुत प्यार करने की बात लिखी थी। पुलिस शव का पंचनामा कर पीएम के लिए भेजने की तैयारी कर रही थी। मगर स्वजन और मजूदर मृतक की पत्नी को नौकरी और मुआवजा देने की मांग पर अड़ गए। अधिकारियों ने समझाईश दी मगर वे नहीं माने और लिखित में देने के बाद ही शव को पीएम के लिए ले जाने की बात कही। इसके बाद प्रशासन ने प्लांट प्रबंधन से चर्चा की। जिस पर प्रबंधन द्वारा मृतक हुकुम सिंह की पत्नी को नौकरी, पांच लाख रूपए मुआवजा और उसके बेटे की पढ़ाई लिखाई का पूरा खर्च उठाने लिखित में आश्वासन दिया। मौके पर ही स्वजन को एक लाख रूपए दिया गया। इसके बाद मामला शांत हुआ और पुलिस ने शव को सीढ़ी से नीचे उतार कर पीएम के लिए भेजा।

'' प्लांट प्रबंधन द्वारा मृतक की पत्नी को नौकरी, पांच लाख रूपए मुआवजा और उसके बेटे की पढ़ाई लिखाई का पूरा खर्च उठाने लिखित में आश्वासन दिया गया है। मृतक आठ दस दिनों से काम पर नहीं आ रहा था। उसके जेब से सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने केएसके प्रबंधन से हर महीने अपने घर वालों को 20 हजार रूपए महीना देने का आग्रह करने के साथ ही अपने घर वालों से बहुत प्यार करने की बात लिखी है।

केपी मोहले

थाना प्रभारी मुलमुला

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close