जांजगीर-चांपा(नईदुनिया प्रतिनिधि)। महिलाओं ने आज करवा चौथ व्रत रखकर पति के दीर्घायु की मंगलकामना की। व्रत रखने वाली सुहागिनों ने चांद का दीदार किया। चांद व गणेश जी की पूजा तथा चंद्रमा को दूध से अर्ध्य देने के बाद सुहागिनों ने व्रत तोड़ा।

पुरातन परम्पराओं में नवीनता का समावेश होने के बावजूद भारतीय महिलाएं करवा चौथ का व्रत विधि-विधान से आज भी करती हैं। आज सुबह से ही सुहागिन महिलाएं करवा चौथ की पूजा की तैयारी में जुटी थी। रात होते ही वे अपने घरों से बाहर निकलकर या छत के ऊपर चांद निकलने का इंतजार कर रही थी। रात लगभग 9 बजे के लगभग चांद का दीदार हुआ। जैसे ही चांद दिखा सुहागिनों ने चलनी से चांद का दीदार कर पति की लंबी आयु की कामना की और अपना व्रत तोड़ा। यह व्रत सुहागिनों के लिए खास मायने रखता है। करवाचौथ व्रत की परम्परा पुराने समय से चली आ रही है। कभी करवा चौथ पत्नी का पति के प्रति समर्पण का प्रतीक हुआ करता था, लेकिन आज यह पति-पत्नी के बीच के सामंजस्य और रिश्ते से महक रहा है। पति के स्वास्थ्य और दीर्घायु के लिए किया जाने वाला यह व्रत हर विवाहिता के जीवन में एक नई उमंग लाता है। महिलाएं सुबह से रात तक निर्जला व्रत रही तथा रात 8 बजकर 20 मिनट में चंद्रमा को दूध से अर्ध्य देकर उसके दर्शन के बाद भोजन ग्रहण की। हर महिला अपने सुहाग की रक्षा के लिए व्रत रखती है। महिलाओं को इस पर्व का बेसब्री से इंतजार रहता है। उन्होंने श्रृंगार कर रात को चांद और पति के दर्शन के बाद व्रत तोड़ा। यह महिलाओं के लिए सबसे बड़ा व्रत है। महिलाओं ने जलभर कर लाए लोटा को पूजा स्थल में मौजूद अन्य महिलाओं को भेंट किया, जिसे जलग्रहण करने के बाद फिर लौटा दिया। साथ ही मिट्टी के नाव में दूध भरकर करवा चौथ की कहानियां सुनी। पूजा अर्चना के बाद पति के स्वस्थ्य, दीर्घायु जीवन के लिए चंद्रदेव से प्रार्थना की। करवा चौथ के बहाने महिलाएं इकट्टी होती है, एक-दूसरे से हंसी-ठिठौली करती है और परंपरा का निर्वहन भी किया जाता है। पुरानी पेंशन के लिए लगाई मेहंदी

फोटो-24 जेएनजे 26

कुछ शिक्षक संगठनों ने पुरानी पेंशन की मांग को लेकर आह्वान किया था।जिस पर कई महिला शिक्षकों ने हाथों में पुरानी पेंशन लागू करो और नई पेंशन नीति समाप्त करने का उल्लेख करते हुए मेहंदी रचाई। इंटरनेट मीडिया में भी इस तरह की मेहंदी लगे हाथों की फोटो खूब ट्रेंड हुए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local