शिवरीनारायण (नईदुनिया न्यूज)। धार्मिक नगरी होने के कारण हाईकोर्ट द्वारा नगर में शराब बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। शराब बिक्री पर प्रतिबंध केवल औपचारिकता मात्र ही है। नगर के वार्डो में मदिरा की धार बह रही है इससे धार्मिक नगरी का माहौल खराब हो रहा है। बाहर से आने वाले श्रद्घालुओं की आस्था को ठेस पहुंच रही है। नगर में अवैध शराब विक्रेताओं की भरमार है। ऐसी बात नहीं है कि इसकी जानकारी पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारियों को नहीं है। यह अवैध कारोबार पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से ही नगर में चल रहा है।

नगर में 15 वार्ड हैं और सभी वार्ड में देसी विदेशी और महुआ शराब के कोचियों की भरमार है। नगर के महात्मा गांधी वार्ड क्रमांक 6 में भी देर रात तक महुआ शराब की बिक्री होती है। आसानी से शराब उपलब्ध होने के कारण मोहल्ले के असामाजिक तत्व शराब पीकर आपस में रात भर लड़ाई - झगड़ा करते रहते हैं। एक दूसरे को गाली गलौज करते रहते हैं जिसकी वजह से मोहल्ले वासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। अवैध शराब बिक्री को लेकर वार्डवासी इसकी शिकायत कई बार अपने - अपने वार्ड के पार्षदों से भी कर चुके हैं मगर पार्षद इस ओर ध्यान नहीं देते हैं। कोचिए देवरी, खोरसी, सबरिया डेरा से बिक्री करने के लिए महुआ शराब लाते हैं। कोचिये सुबह से लेकर शाम तक अपने घरों से ग्राहकों को महुआ शराब बेचते हैं। पुरुष के घर पर नहीं होने पर महिलाओं और बधाों द्वारा भी ग्राहकों को शराब बिक्री किया जाता है। बिलासपुर संभाग के आईजी रतनलाल डांगी अवैध शराब बिक्री, जुआ, सट्टा पर कार्रवाई को लेकर कई बार पुलिस विभाग के अधिकारियों और थाना प्रभारियों को निर्देश दे चुके हैं इसके बाद भी विभाग के अधिकारी कार्रवाई करने के बजाय उन्हें संरक्षण दे रहे हैं।

मोबाइल से आर्डर लेकर पहुंचाई जाती है शराब

नगर में शराब का अवैध कारोबार उच्च तकनीक से चल रहा है। बकायदा मोबाइल से आर्डर लेकर बाइक से निर्धारित स्थान पर शराब पहुंचाकर दिया जाता है। ऐसी बात नहीं है कि इसकी जानकारी पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारियों को नहीं है। यह अवैध कारोबार पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से ही नगर में चल रहा है।

मल्दा में अवैध शराब की बिक्री

मल्दा । ग्राम पंचायत मल्दा के कई वार्डो में महुआ शराब की खुलेआम बिक्री हो रही है। यहां बड़ी तादात में लोग शराब भी बना रहे हैं। गांव में शराब बिकने से युवा और किशोर वर्ग पर इसका ज्यादा प्रभाव पड़ रहा है । पुलिस द्वारा कभी कभार कार्रवाई कर अवैध शराब की बिक्री करने वालों पर शिकंजा कसा जाता है। बाद में स्थित पिᆬर जस की तस हो जाती है। खुलेआम शराब बिकने से गांव का माहौल भी खराब हो रहा है। खासकर महिलाओं को इससे ज्यादा परेशानी हो रही है। क्योंकि लोग नशे में उनपर छीटाकशी करते हैं। ग्रामीणों ने अवैध शराब बिक्री करने वालों के खिलापᆬ कार्रवाई करते हुए इस पर रोक लगाने की मांग की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local