अकलतरा। (नईदुनिया न्यूज)। महिला का गला दबाकर व पत्थर से जानलेवा हमला कर उसकी हत्या करने व साक्ष्य छिपाने के लिए उसके शव को बोरे में भरकर नहर पᆬेंकने वाले तीन आरोपितों को आज पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

अकलतरा थाना अंतर्गत किरारी के पास मुख्य नहर में मंगलवार की देर शाम एक बोरे में संदिग्ध अवस्था में लाश दिखी। इसकी जानकारी मिलने पर यहां ग्रामीणों की भीड़ लग गई और उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी।जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों की मदद से बोरे में भरे शव को बाहर निकाला गया। पुलिस शव के संबंध में आसपास के लोगों से पूछताछ कर रही थी। इसी दौरान उसकी पहचान उर्मिला पाटले (25) पति नागेंद्र पाटले निवासी सीसीआई लेबर कालोनी के रूप में की गई। बहरहाल पुलिस मामले की हर पहलुओं की बारिकी से जांच में जुटी है। इस संबंध में पुलिस का कहना है कि महिला तीन दिनों से घर लापता थी। स्वजनों ने इसकी गुमशुदगी थाने में दर्ज कराई थी। मामले में संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। विवेचना के दौरान पुलिस ने संदेही चन्द्रमणी वैष्णव, सुरेन्द्र श्रीवास, शिवदास महंत को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ की। पूछताछ में उन्होंने महिला की हत्या करने की बात कबूल की। पूछताछ में उन्होंने बताया कि उर्मिला के घर में पूर्व से ही चन्द्रमणी का आना जाना था। मृतिका के पिता से भी परिचित था आरोपित चन्द्रमणी के दोस्त सुरेन्द्र एंव शिवदास भी उसके साथ उर्मिला के घर आना जाना करते थे। 9 अक्टूबर को तीनों युवकों द्वारा अय्याशी की योजना बनाई, चूंकि उर्मिला के साथ सभी पूर्व से परिचित थे आरोपित चन्द्रमणी ने अपने मित्र सुरेन्द्र श्रीवास से उनको भी बुलवाया और सीसीआई के बंद पड़े खदान के पीपल पेड़ के पास चन्द्रमणी व उसके दो साथी ने उसके साथ संबंध बनाया एंव तीनों आरोपित उसके साथ रात लगभग 9 बजे तक वहीं रुके। रात में महिला ने अपने बधो की तबियत खराब होने की बात कहते हुये उनसे घर छोड़ने की बात कही। तीनों युवक उसे रूकने की जिद करने लगे। इसी बीच युवकों व महिला के बीच हाथापाई होने लगी। इससे आक्रोशित होकर महिला ने उनकी शिकायत थाने में करने की बात कही। इसके डर से तीनों युवकों ने उसके ब्लाउज से उसका गला दबाकर नुकीले पत्थर से मारकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से उसकी लाश को बोरी में भर दिया और आरोपित चन्द्रमणी व सुरेन्द्र ने बोरी को तरौद के बड़े नहर के पास पᆬेंक दिया। पुलिस ने आरोपित तरौद निवासी चन्द्रमणी वैष्णव उर्फ करण (37) पिता कृष्ण कुमार वैष्णव, सुरेन्द्र श्रीवास (30) पिता स्व जगत राम श्रीवास, शिवदास महंत (36) पिता शीतल दास की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त पत्थर व बाइक जब्त कर न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेज दिया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local