जांजगीर-चांपा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्रामीणों को पंचायत से संबंधधित कोई सूचना देनी हो या शासन की किसी योजना का प्रचार करना हो तो कोटवार को गांव की गलियों घूमकर और जोर जोर से आवाज लगाकर मुनादी करनी नहीं पड़ती है। गांव के पंचायत भवन में बने कंट्रोल रूम में ही बैठकर पंचायत का एक कर्मचारी लाऊड स्पीकर के माध्यम सेमुनादी कर आदेश निर्देश के साथ ही जो भी विषय रहता है उसकी जानकारी दे देता है।

नवागढ़ ब्लाक के आदर्श ग्राम पंचायत केरा में 20 वार्ड है। पूरे गांव में मुनादी करने में 2 घंटे का समय लगता था अब वह काम 10 मिनट में हो जाता है। ग्रामीणों को सूचना देने के लिए कोटवार को गांव की गलियों में जाकर जोर जोर से आवाज लगाकर मुनादी नहीं करनी पड़ती है। ग्राम पंचायत के कंट्रोल रूम में बैठकर ही जो भी सूचना रहती है उसका प्रसारण साऊंड सिस्टम के माध्यम से किया जाता है।

दरअसल कई बार शासन की विभिन्न् योजनाओं या निर्देशों की जानकारी ग्रामवासियों को नहीं मिल पाती थी। ग्रामीण इसकी शिकायत सरपंच लोकेश शुक्ला से करते थे कि उन्हें जानकारी नहीं दी गई। ग्रामीणों की इस शिकायत को दूर करने के लिए सरपंच को सूझा कि क्यों न कोई ऐसा उपाय किया जाए जिससे ग्रामीणों को एक साथ एक ही समय पर सूचना मिल सके। इसके लिए उन्होंने 45 हजार रुपये की लागत से लाउडस्पीकर और एम्पलीफायर खरीदा।

लाऊडस्पीकर को गांव की पानी टंकी, पेड़ और चौक चौराहों में लगे बिजली खंभे में लगवा दिया और सभी का कनेक्शन पंचायत में कंट्रोल रूम बनाकर जोड़ दिया। यहीं से बैठकर पंचायत का कर्मचारी कौशल कर्ष पंचायत की बैठक की सूचना, शासन की योजनाओंऔर निर्देशों की जानकारी प्रसारित करता है। इससे सभी ग्रामीणों को एक साथ एक ही समय पर सूचना मिल जाती है।

वहीं अब कोई ग्रामीण जानकारी या सूचना नहीं मिलने की शिकायत भी नहीं करते हैं। साथ ही जिस काम मेंपहले 2 घंटे का समय लगता था अब वह काम 10 मिनट में हो जाता है। इसके अलावा सभी तीज त्यौहारों और पर्व की बधाई और शुभकानाओं के साथ राष्ट्रीय और देशभक्ति गीतोंका प्रसारण भी किया जाता है। इससे गांव में

सौहार्द भी बना रहता है।

आग लगने की सूचना पर पहुंचे ग्रामीण

सरपंच लोकेश शुक्ला ने बताया कि एक बार गांव के एक किसान के खलिहान मेंआग लग गईथी । आग लगने की सूचना ग्रामीणों को साऊंड सिस्टम के माध्यम सेदी गई। सूचना मिलते ही पांच मिनट में सैकड़ों ग्रामीण मदद के लिए घटना स्थल पहुंच गए और सभी ने मिलकर आग बुझाई।

कोरोना काल में रहा उपयोगी

ग्राम पंचायत द्वारा लगवाया गया यह सिस्टम कोरोना काल में सर्वाधिक उपयोगी रहा। कोरोना की रोकथाम और शासन प्रशासन द्वारा जारी की जानेवाली गाइडलाइन और आदेश निर्देश की जानकारी ग्रामीणों को समय पर दी जाती थी। इसके अलावा कोरोना से बचाव के लिए ग्रामीणों को इसके माध्यम से जागरूक भी किया गया।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close