जांजगीर-चांपा। Janjgir- Champa News: जिले में रेत माफियाओं का खुला राज चल रहा है। नदियों में लगा प्रतिबंध हटने के बाद एक बार फिर रेत माफिया सक्रिय हो गए हैं और नदियों का सीना चिर रहे हैं। शिवरीनारायण रेत घाट से रात में नदी से रेत निकालकर बाइपास रोड में डंप किया जा रहा है। रेत माफिया डंप रेत को निर्धारित रेट से दोगुना तीगुना कीमत पर अभी भी बेच रहे हैं।

जिले के हसदेव, महानदी सहित अन्य सहायक नदियों के 15 रेत घाटों को रेत खनन के लिए ठेका में दिया गया है। इनके अलावा दर्जनभर अवैध खदानों से भी रेत उत्खनन किया जा रहा है। नदियों का सीना चीरकर सालभर तक रेत माफियाओं नें बिना रायल्टी के रेत खनन कर सरकार को करोड़ों रुपये का चूना लगाया। बारिश के मौसम को देखते हुए रेत घाटों से रेत खनन और परिवहन पर 15 जून से लेकर 15 अक्टूबर तक प्रतिबंध लगा दिया गया था।

रेत उत्खनन पर लगा प्रतिबंध हटने के बाद एक बार फिर रेत माफिया सक्रिय हो गए हैं। रात में नदियों का सीना छलनी कर फिर रेत डंप किए जा रहे हैं। शिवरीनारायण के महानदी रेत घाट में रात में ही मशीन लगाकर रेत उत्खनन किया जा रहा है। रायल्टी के साथ 5 हजार में और बिना रायल्टी के 3 हजार रुपये में प्रति हाइवा रेत मिल रहा है। जिले में रेत माफियाओं को अधिकारियों ने खुली छूट दे रखी है। राजस्व, पुलिस और खनिज विभाग के अधिकारी रेत माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय परिवहन में लगे ट्रैक्टर और हाइवा को जब्त कर औपचारिकता निभा रहे हैं।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस