जांजगीर-चांपा। जिले में महात्मा गांधी औद्योगिक पार्क योजना के तहत ग्रामीण उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने जर्वे, पेंड्री और पचेड़ा गौठान का अवलोकन किया तथा ग्रामीण उद्योग स्थापित करने के लिए इच्छुक हितग्राहियों से सीधे चर्चा की। गौठान में पहुंचे विभिन्न स्व सहायता समूह की महिलाओं, युवाओं और ग्रामीणों ने बेकरी, अचार, पापड,ऑफसेट प्रिंटिंग, मशरूम यूनिट, पूजा सामग्री निर्माण कार्य, आर ओ वाटर यूनिट सहित अन्य विभिन्न कार्यों के लिए स्वस्फुर्त इच्छा जताई।

ग्रामीण औद्योगिक पार्क में ग्रामीणजन अपने हुनर के माध्यम से ग्रामीण उद्योग स्थापित कर आय का नया जरिया प्राप्त कर सकते हैं। गांधी जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर को रीपा योजना का राज्य में वर्चुअल शुभारंभ सहित स्थानीय स्तर पर शुभारंभ कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

कलेक्टर सिन्हा ने जर्वे, पेंड्री और पचेड़ा गौठान में उपस्थित ग्रामीणों, युवाओं और स्व सहायता समूह की महिलाओं को बताया कि इस योजना के तहत ग्रामीण गरीब परिवारों के लिए आजीविका के अवसर के माध्यम से अतिरिक्त आय का साधन विकसित किया जाएगा तथा स्थानीय अवश्यकता और बाजार की संभावनाओं के आधार पर विविध उद्यम स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि ग्रामीण उद्योग स्थापित करने के लिए इच्छुक हितग्राहियों को शासन की योजनाओं के तहत लोन भी उपलब्ध कराया जाएगा। जिसमें छुट सहित बचे पैसों को कम ब्याज पर चुकाने की सुविधा दी जाएगी।

इसलिए आप सभी अपनी इच्छाओं के अनुरूप कार्याें को बेझिझक बतायें, जिससें आपको ग्रामीण औद्यागिक पार्क के माध्यम से रूचिपूर्ण रोजगार के अवसर उपलब्ध कराया जा सके। उन्होंने कहा कि इस योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए शासन द्वारा मूलभूत अधोसंरचना, तकनीक मार्गदर्शन और उत्पाद विक्रय के लिए व्यवस्था सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रारंभिक तौर पर जिले के प्रत्येक विकासखंड के 2 गौठनों में ग्रामीण औद्योगिक पार्क स्थापित किया जाएगा। इस अवसर पर गौठान में विभिन्न जनप्रतिनिधि, जिला पंचायत सीईओ फरिहा आलम सिद्दीकी, सहित विभागीय अधिकारी, स्वसहायता समूह के सदस्य और ग्रामीणजन उपस्थित थे।

औद्योगिक पार्क की स्थापना को लेकर ग्रामीणों, युवाओं और स्व सहायता समूह की महिलाओं में दिखा उत्साह

कलेक्टर ने ग्रामीण औद्योगिक पार्क की स्थापना को लेकर गौठान में उपस्थित स्व सहायता समूह, युवाओं और ग्रामीणों से व्यक्तिगत रूप से उनकी इच्छाओं के अनुरूप किए जाने वाले कार्य की जानकारी ली। जिस पर ग्रामीणों, युवाओं और स्व सहायता समूह की महिलाओं ने उत्साहपूर्वक बेकरी, आचार, पापड़, मछली पालन, ऑफसेट प्रिंटिंग, मशरूम उत्पादन, पूजा सामग्री निर्माण कार्य, आर ओ वाटर यूनिट सहित अन्य विभिन्न कार्यों के लिए स्वस्फूर्त इच्छा जताई।

कलेक्टर ने दिव्यांग महिला को अपने पास बैठाकर जानी उनकी इच्छा

कलेक्टर सिन्हा ने पेंड्री गौठान में पहुंची दिव्यांग महिला तिरुपति कश्यप को देखते हुए उन्हें अपने पास बुलाकर बिठवाया और उनसे पुछा की आप कौन सा कार्य करना चाहती है जिससे आपकों आजीविका का साधन मिले। जिस पर उन्होंने मशरूम पैकेजिंग, सेवई निर्माण कार्य की ईच्छा जताई। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को दिव्यांग महिला के सुविधा अनुरूप उन्हे कार्य उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

जिले के प्रत्येक विकासखंड से दो गौठानों का किया गया है चयन

कलेक्टर ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर जिले के प्रत्येक विकासखंड के दो गौठानों में ग्रामीण औद्योगिक पार्क स्थापित किया जाएगा। इनमें बलौदा विकासखंड से जर्वे और महुदा गौठान, नवागढ़ विकासखंड से पेंड्री और पचेड़ा गौठान, अकलतरा विकासखंड से तिलई और किरारी गौठान, पामगढ़ विकासखंड से मुलमुला और लोहर्सी गौठान, बम्हनीडीह विकासखंड से गोविंदा और अफरीद गौठान का चयन किया गया है। इसी प्रकार सक्ती जिला अंतर्गत सक्ती विकासखंड से जेठा और नंदौरीखुर्द गौठान, डभरा विकासखंड से रेडा और पुटीडीह गौठान, मालखरौदा विकासखंड से चरौदा और सोनादुला गौठान तथा जैजैपुर विकासखंड से खजुरानी और भातमाहुल गौठान का चयन किया गया है।

ग्रामीण औद्योगिक पार्क की स्थापना के लिए गौठान के नक्शे का किया अवलोकन

ग्रामीण औद्योगिक पार्क के व्यवस्थित निर्माण कार्य के लिए कलेक्टर ने इंजीनियर से गौठान का नक्शा मंगाकर अवलोकन किया। उन्होंने ग्रामीण औद्योगिक पार्क के लिए, गायों के रहने के लिए, बाड़ी के लिए, शेड निर्माण कार्य सहित अन्य विभिन्न निर्माण कार्य व्यवस्थित ढंग से कराये जाने कहा। उन्होंने ग्रामीण उद्योग स्थापना को ध्यान में रखते हुए विद्युत विभाग के उपस्थित अधिकारी को आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए है

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close