बम्हनीडीह। नईदुनिया न्यूज। लकवा की बीमारी से तंग आकर वृद्घ ने खेत के मेड़ में लगे बबूल पेड़ पर पᆬांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मर्ग कायम कर विवेचना में लिया है।

जानकारी के अनुसार बम्हनीडीह थाना क्षेत्र के सोंठी निवासी गोटीराम यादव (65) पिता अमोल यादव पिछले दो साल से लकवाग्रस्त था। वहीं आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के चलते वह आये दिन परेशान रहता था। बीती रात गोटीराम अपने परिजनों के साथ खाना खाकर सो गया और सुबह लगभग 4 बजे सोकर उठा और दिशा मैदान के लिए खेत की ओर गया। इसी दौरान वह खेत के बबूल पेड़ पर पᆬांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। सुबह खेत में काम करने पहुंंचे ग्रामीणों ने गोटीराम की बबूल के पेड़ पर लटकी लाश देखी। जानकारी मिलने पर यहां लोगों की भीड़ लग गई और इसकी जानकारी परिजन व पुलिस को दी गई। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मर्ग कायम कर विवेचना में लिया। इस संबंध में कई ग्रामीणों का कहना है कि गोटीराम पिछले कई सालों से बीमारी से पीड़ित था, वहीं उसकी आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं थी। साथ ही उस पर कर्ज का बोझ भी था।