अकलतरा (नईदुनिया न्यूज)। कलेक्टर जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने अकलतरा के धान उपार्जन केन्द्र का औचक निरीक्षण कर धान बेचने आये किसानों से खरीदी केंद्र की ब्यवस्था पर चर्चा की। कलेक्टर ने इलेक्ट्रानिक आद्रता मापी से धान की नमी की जांच कराई। जांच में धान की नमी 14 प्रतिशत पाये जाने पर संतुष्टि जाहिर की। कलेक्टर ने कहा कि किसानों को टोकन में दिये गये निर्धारित तिथि को किसान द्वारा धान लाने पर तौलाई अवश्य हो यह सुनिश्चित किया जाए। कलेक्टर ने कहा कि धान खरीदी केंद्र में धान विक्रय से संबंधित सभी आवश्यक सूचना, जानकारियां प्रदर्शित करवायें। कलेक्टर ने खिसोरा के किसान शिवप्रसाद से इस वर्ष हुए धान के उत्पादन के बारे में जानकारी ली। शिवप्रसाद ने बताया कि उसे धान लाने के लिए आसानी से बारदाना उपलब्ध हो गया। उपार्जन केंद्र के कर्मचारियों द्वारा भी सहयोगात्मक व्यवहार किया जा रहा है। वें 180 कट्टा धान लेकर तौलाई के लिए आये हैं। उपार्जन केन्द्र में पीने का पानी, छांव, बैठक व्यवस्था आदि की समुचित व्यवस्था की गई है। उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा किये गये धान खरीदी व्यवस्था को किसानों के अनुकूल बताया। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायत सीईओ गजेन्द्र सिंह ठाकुर, सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी, विपणन अधिकारी, जिला खाद्य अधिकारी सहित धान उपार्जन केन्द्र के प्रभारी व अन्य लोग उपस्थित थे।

गोठान में व्यसायिक गतिविधि बढ़ाने का निर्देश

कलेक्टर जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने ग्राम पंचायत खटोला के गोठान का निरीक्षण किया। उन्होंने अकलतरा जनपद सीईओ को गोठान में आर्थिक, व्यवसायिक गतिविधियां बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि सभी समूहों को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास करें। कलेक्टर ने मछली पालन में संलग्न समूह के सदस्यों से कहा कि मछली विभाग के अधिकारियों के मार्गनिर्देशन में उत्पादन को बढ़ाने के लिए समुचित प्रयास करें। साथ ही डबरी के मेढ़ में भी फलदार पौधे का रोपण करें। मुर्गी पालन, सब्जी उत्पादन एवं जैविक खाद उत्पादन के लिए गोठान में संलग्न समूहों को प्रोत्साहित करने के लिए जनपद सीईओ को निर्देशित किया। उन्होंने निरीक्षण के दौरान गोधन न्याय योजना के तहत खरीदे गए गोबर तथा तैयार किये गये खाद की बिक्री के संबंध में भी जनपद सीईओ से जानकारी ली।

आंगनबाड़ी में अनावश्यक सामग्री रखे जाने पर हुए नाराज

कलेक्टर ने अकलतरा भ्रमण के दौरान वार्ड नंबर 12 के आंगनबाड़ी केन्द्र का निरीक्षण किया। परिसर में साफ-सफाई नहीं होने और भवन में कार्यालय के अनावश्यक सामग्री रखे जाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी को अनावश्यक सामग्री हटवाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने निरीक्षण के दौरान उपस्थित नन्हें बधाों से चर्चा कर आंगनबाड़ी की गतिविधियों की जानकारी ली। रसोईकक्ष के साफ-सफाई के लिए निर्देश दिए। उन्होंने अकलतरा तहसीलदार गरिमा मनहर को समय-समय पर आंगनबाड़ी केन्द्र और स्कूलों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने आंगनबाड़ी के प्रवेश द्वार की सीढ़ी को बधाों के अनुकूल बनवाने को कहा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local