जांजगीर-चांपा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक द्वारा बिना ब्याज के लोन बांटने में इस साल भी जमकर उदारता बरती गई है। इस वर्ष सहकारी बैंक ने 18 शाखाओं के माध्यम से करीब 70 हजार किसानों को 2 अरब 45 करोड़ रूपए का ऋ ण वितरण किया था। समर्थन मूल्य में की गई धान खरीदी के दौरान किसानों से ऋ ण की वसूली की गई। जिसमें समितियों के माध्यम से किसानों से 1 अरब 92 करोड़ रूपए कर्ज की वसूली हो गई है। बैंक ने किसानों से 90 पᆬीसदी ऋ ण की वसूली कर ली।

विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने किसानों के कर्ज माफी की घोषणा की थी। सत्ता में आने के बाद सरकार ने किसानों का जो भी पिछला कर्ज था उसे माफ कर दिया। इसके बाद बैंकों में किसानों का कोई कर्ज बाकी नहीं था। जिले में जिला सहकारी बैंक की 18 शाखाएं हैं। जिसके माध्यम से हर साल किसानों को जीरो प्रतिशत व्याज दर पर खेती किसानी के लिए ऋण उपलब्ध कराया जाता है। वित्तीय वर्ष 2021 -22 में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक को 2 अरब 45 करोड़ रूपए के ऋण वितरण का लक्ष्य मिला था जिसके तहत 70 हजार से अधिक किसानों को शून्य ब्याज दर पर ऋ ण वितरण किया गया है। हालांकि वित्तीय वर्ष 2020-21 में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक द्वारा 65 हजार 561 किसानों को 2 अरब 45 का ऋण वितरण किया गया था जिसकी शत प्रतिशत वसूली किसानों से समर्थन मूल्य में धान खरीदी के दौरान लिंकिंग के माध्यम से की गई। उल्लेखनीय है कि पहले किसानों से वसूली को लेकर सहकारी बैंक की शाखाओं के द्वारा सख्त रवैया नहीं अपनाया जाता था जिसके कारण हर साल किसानों का करोड़ों रुपए बैंक में पिछला बकाया रहता था। धान खरीदी के दौरान किसानों से लिंकिग के माध्यम से ऋण वसूली की जाती थी मगर इसमें भी दरियादिली दिखाई जाती थी। थोड़ी बहुत लिकिंग की राशि काटने के बाद किसानों को धान का पूरा पैसा दे दिया जाता था जिसकी वजह से फिर सालभर बैंक के कर्मचारी वसूली के लिए किसानों के च-र काटते रहते थे। हालांकि कुछ वर्षों से यह व्यवस्था बदली है जिसकी वजह से किसानों से शत-प्रतिशत की वसूली हो पाती है।

लिंकिंग से हुई वसूली

जिला सहकारी केंद्रीय बैंक द्वारा 2 अरब 45 करोड़ रूपए के ऋ ण वितरण का लक्ष्य मिला था। जिसके तहत 70 हजार किसानों को जीरो ब्याज दर पर वितरण किया गया है। हालांकि समर्थन मूल्य में की जाने वाली धान खरीदी के दौरान किसानों से लिंकिंग के माध्यम से उसकी वसूली की गई। इस वित्तीय वर्ष में बांटे गए ऋ ण में से किसानोंसे 1 अरब 92 करोड़ की वसूली किसानों से कर ली गई है। बैंक के नोडल अधिकारी का कहना है कि जो शेष राशि बच गई है उसकी भी वसूली पूरी कर ली जाएगी।

शाखावार ऋ ण वितरण की जानकारी (राशि लाख रूपए में)

शाखा का नाम योग

जांजगीर1944 .72

चांपा1382.41

अकलतरा 1683.70

बम्हनीडीह918.70

बलौदा 966.16

पामगढ़ 2153.35

मुलमुला 590.14

शिवरीनारायण 878.36

नवागढ़ 585.54

सक्ती2158.32

बाराद्वार1457.01

डभरा 2357.46

चंद्रपुर 1295.93

जैजैपुर2175.42

हसौद 473.48

बिर्रा 564.88

मालखरौदा 2267.76

छपोरा 651.33

योग-24504.04

'' बैंकों के माध्यम से किसानों को 2 अरब 45 करोड़ 4 लाख रूपए का ़ऋ ण दिया गया था। समर्थन मूल्य पर की गई धान खरीदी के दौरान किसानों से लिंकिंग के माध्यम से वसूली की गई है। अब तक 1 अरब 92 करोड़ रूपए से अधिक की वसूली हो गई है जो लक्ष्य का 90 प्रतिशत है।

अश्वनी पाण्डेय

नोडल अधिकारी

जिला सहकारी बैंक, जांजगीर

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local