जांजगीर-चांपा(नईदुनिया न्यूज)। पंचायत उपचुनाव के लिए मतदान 28 जून कोसुबह 7 से दोपहर 3 बजे तक हुआ। जिले के विभिन्न ब्लाकों में सरपंच केपांच और पंच के चार पदों पर चुनाव के लिए वोट डाले गए। जिले में उपचुनाव में 57.57 फीसदी मतदान हुआ। इसमें 58.79 प्रतिशत महिला और 56.43 प्रतिशत पुरूष मतदाताओं ने वोट डाले। परिणाम की अधिकृत घोषणा संबंधित ब्लाक मुख्यालयों में 30 जून को होगी।

पंचायत उपचुनाव के लिए वोट मंगलवार की सुबह से डाले गए। जिले में सरपंच के पांच और पंचों के चार रिक्त पदों के लिए मतदान हुआ । नवागढ़ ब्लाक के ग्राम कटौद, पामगढ़ ब्लाक के खोखरी, सक्ती ब्लाक के बोकरा मुड़ा, जैजैपुर ब्लाक के कचंदा और मालखरौदा ब्लाक के ग्राम भूतहा में सरपंच पद के लिए वोट डाले गए। इसी तरह पंच पद के लिए नवागढ़ ब्ला क के ग्राम तुस्मा, पामगढ़ ब्लाक के ग्राम लोहर्सी, सक्ती ब्लाक के खूंटा दहरा और जैजैपुर ब्लाक के झालरौंदा के एक-एक वार्ड में पंच पद के लिए मतदान हुआ। सरपंच व पंच पद के लिए मतदान सुबह 7 बजे से शुरू हुआ और मतदान के बाद मतदान केंद्रों में ही वोटों की गिनती की गई। हालांकि परिणाम की घोषणा बुधवार को संबंधित जनपद पंचायतों में की जाएगी।

मत पेटी में डाले गए वोट

पंचायत उपचुनाव में मत पेटियों में वोट डाले गए। लोक सभा और विधानसभा चुनाव में मतदान के लिए इवीएम का उपयोग होता है, जबकि पंचायत चुनाव में मत पेटी का उपयोग किया गया । मतदाताओं ने मुहर लगाकर अपना प्रतिनिधि चुना।

पांच सरपंच पद के लिए 20 उम्मीदवार मैदान में

उपचुनाव में भी सरपंच पद के लिए उम्मीदवारों की संख्या कम नहीं है। पांच ग्राम पंचायतों में सरपंच पद का चुनाव हुआ। इनमें से नवागढ़ ब्लाक के ग्राम कटौद में सरपंच पद के नौ उम्मीदवार मैदान मेंथे। इसी तरह खोखरी में तीन, बोकरामुड़ा व कचंदा में दो-दोतथा भूतहा में चार उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं।

पंचायत वार मतदान का प्रतिशत

पंचायत का नाम मतदान का प्रतिशत

कटौद55.8

खोखरी45.79

बोकरामुड़ा90.24

कचंदा53.47

भूतहा70.27

औसत 57.57

रींवापार के मतदाताओं ने किया सरंपच चुनाव का बहिष्कार

जांजगीर-चांपा (नईदुनिया न्यूज)। जिले के पामगढ़ ब्लाक के खोखरी ग्राम पंचायत में आज सरपंच पद के लिए उपचुनाव में मतदान हुआ । मगर आश्रित ग्राम रीवापार के ग्रामीणों नेचुनाव का बहिष्कार कर दिया । ग्रामीणों का आरोप है कि आजादी के बाद से उनके गांव में सड़क नहीं बनी और जब तक सड़क नहीं बनाई जाएगी वे पंचायत, विधानसभा और लोकसभा सभी चुनाव का बहिष्कार करेंगे। मौके पर मौजूद तहसीलदार बजरंग साहू ग्रामीणों को समझाइश देने का प्रयास करते रहे मगर ग्रामीण अपनी जिद पर अड़े रहे और किसी ने वोट नहीं डाला जबकि खोखरी के मतदाताओं नेमतदान किया।

त्रिस्तरीय पंचायत उपचुनाव मेंमंगलवार को पामगढ़ विकासखंड केग्राम पंचायत खोखरी में सरपंच पद के लिए मतदान सुबह सात से दोपहर तीन बजे तक हुआ। मगर आश्रित ग्राम रीवापार के ग्रामीणों नेचुनाव का बहिष्कार कर दिया । ग्रामीणों का आरोप है कि आजादी के 75 साल बीत गए मगर उनकी गांव में अब तक पक्की सड़क नहीं बनी है। जबकि यह गांव राज्य मार्गपामगढ़ से महज पांच किलोमीटर दूर है। ग्रामीणों का आरोप है कि कई बार उनके द्वारा शासन प्रशासन से गुहार लगाई जा चुकी है मगर उनकी समस्या को हर बार अनसुना कर दिया गया है। ग्रामीणों का साफ तौर पर कहना है कि जब तक उनके गांव में सड़क नहीं बनेगी वे किसी भी चुनाव में भाग नहीं लेंगे। खोखरी ग्राम पंचायत में सरपंच पद के लिए तीन प्रत्याशी मैदान मेंथे। यहां 2600 मतदाताओं को मतदान करना था। जिसमे से 600 मतदाता रीवापार के हैं जिन्होंने चुनाव का बहिष्कार किया है। ज्ञात हो कि खोखरी में सरपंच का पद रिक्त था। इसके लिए उपचुनाव मंगलवार को हुआ।

'' अंतिम समय तक आश्रित ग्राम रींवापार केमतदाताओंकोसमझाईश दी गई। मगर वेमतदान करने तैयार नहीं हुए। खोखरी केमतदाताओं ने मतदान किया है और मतोंकी गणना कर ली गईहै। मतदान के लिए खोखरी में तीन और रींवापार मेंएक बूथ बनाया गया था।

बजरंग साहू

तहसीलदार एवं रिटर्निंग अधिकारी

पामगढ़

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close