जशपुरनगर नईदुनिया न्यूज। जिला न्यायालय जशपुर के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अब्दुल जाहिद कुरैशी ने बाल संप्रेषण गृह का मुआयना किया। इस अवसर पर उन्होंने बाल संप्रेषण गृह में उपस्थित पालकों को लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम के संबंध में विस्तार से जानकारी दी तथा बच्चों को लैंगिक अपराधों से बचने के लिए उन्हें सर्तक और जागरूक बनाने पर जोर दिया। श्री कुरैशी ने बच्चों से भी लैंगिक अपराधों से दूर रहने की समझाइश दी। उन्होंने इस मौके पर इंटरनेट, सोशल मीडिया एवं अन्य इलेक्ट्रॉनिक संसाधनों के बेरोक टोक उपयोग की वजह से कम उम्र के बच्चों के मानसिक एवं शारीरिक विकास पर पड़ रहे असर पर पालकों का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि इसकी वजह से बच्चों में कई तरह की अपराधिक प्रविृत्तियां जन्म ले रही है। उन्होंने पालकों से बच्चों की गतिविधियों पर निगाह रखने तथा उन्हें संस्कारी बनाने का आग्रह किया। इस मौके पर नशा मुक्ति तथा अन्य समाजिक कुरीतियों के बारे में भी जानकारी दी गई और इससे मुक्त रहने की अपील की गई।

-------------

Posted By: Nai Dunia News Network