पत्थलगांव नईदुनिया न्यूज। अग्रध्वज सज्जा प्रतियोगिता में आंचल अग्रवाल ने बाजी मारी। उन्होंने अग्र ध्वज की विशेष रूप से सजावट के माध्यम से महाराजा अग्रसेन के संदेशों के साथ ही अग्रवाल समाज के सभी गोत्रों को एक सूत्र में पिरोने का सामाजिक संदेश भी दिया।

21 सितंबर को उद्घाटन के साथ ही अग्रसेन जयंती समारोह में प्रतियोगिताओं का दौर शुरू हो गया है। इस बार पारंपरिक प्र्रतियोगिताओं के साथ ही सामाजिक और समसामयिक विषयों पर भी प्रतियोगिताएं रखी गई हैं। सोशल मीडिया प्रभारी जितेन्द्र अग्रवाल ने बताया कि अग्रवाल सभा के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल के मार्गदर्शन में नवयुवक समिति द्वारा कार्यक्रमों का चयन इस आधार पर किया गया है कि उनमें सामाजिक संदेश निहित हो। उन्होंने बताया कि महाराज अग्रसेन को समाजवाद का सबसे पहला प्रवर्तक माना जाता है। इस नाते उनकी जयंती पर आयोजित होने वाले पर्व में इसका निहित होना अति आवश्यक तत्व है। उन्होंने बताया कि समारोह में अग्रध्वज प्रतियोगिता रखी गई थी इसमें अग्रवाल समाज के प्रतीक स्वरूप माने जाने अग्रध्वज की सजावट करनी थी। उन्होंने बताया कि यह प्रतियोगिता मूलतः महिलाओं के लिए थी और समाज के विभिन्न वर्गों की महिलाओं एवं बालिकाओं ने इसमें भाग लिया। श्री अग्रवाल ने बताया कि इसके लिए अग्रध्वज महिलाओं को समिति की ओर से उपलब्ध कराया गया था और प्रतिभागियों को इसकी सजावट करनी थी। इसमें महाराज अग्रसेन के 'एक रूपया,एक ईंट' के संदेश को शामिल करना अनिवार्य था। ध्वज की सजावट के आधार पर विजेता प्रतिभागी का चयन होना था। आंचल अग्रवाल ने इस प्रतियोगिता में बाजी मारी। उन्होंने महाराज अग्रसेन के संदेश के साथ ही अग्रवाल समाज के सभी अठारह गोत्रों के नाम अग्रध्वज में सुंदर सजावट के साथ उत्कीर्ण किए थे। रूपाली अग्रवाल दूसरे और अंशु अग्रवाल तीसरे स्थान पर रहीं। बॉलीवुड विलेन प्रतियोगिता में प्रियांश गर्ग प्रथम,शिवम अग्रवाल द्वितीय तथा अनन्य गर्ग ने तृतीय स्थाान हासिल किया। कक्षा 9 से उपर के आयु वर्ग के लिए गोल्डन ईरा प्रतियोगिता रखी गई जिसमें सिनेमाई कलाकारों के उपर कार्यक्रम प्रस्तुत करना था। इस प्रतियोगिता में आयुष अग्रवाल ने पहला,पूजा अग्रवाल ने दूसरा और रेणु अग्रवाल ने तीसरा स्थान हासिल किया। शनिवार को ही कक्षा 2 तक के बच्चों के लिए विविध वेशभूषा प्रतियोगिता और कक्षा 6 से 8 तक के बच्चों के लिए फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता भी रखी गई थी। अग्र समाज के बच्चों ने इसमें अपने प्रदर्शन से लोगों को हैरत में डाल दिया। विविध वेशभूषा प्रतियोगिता में स्वच्छता अभियान के साथ ही 'लास्टिक का उपयोग बंद करने को विशेष रेखांकित किया गया। प्रतियोगिता में करीब 87 बच्चों ने अपनी कला का प्रदर्शन किया और उन्होंने प्रतियोगिता के माध्यम से प्लास्टिक के पर्यावरण और मानव शरीर पर पड़ रहे दुष्प्रभावों को प्रदर्शित करते हुए इसका उपयोग बंद करने का संदेश दिया। इस प्रतियोगिता में आदित्य मित्तल प्रथम,आरव गर्ग द्वितीय तथा अनंत मित्तल को तृतीय स्थान मिला जबकि फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता में खुशी अग्रवाल,काशवी गर्ग और अदिति गर्ग क्रमशः पहले,दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। रंगोली प्रतियोगिता ने भी यहां लोगों का ध्यान विशेष रूप से खींचा। इसमें प्रतिभागियों ने अलग-अलग रंगों की रंगोलियां बनाईं जिसमें अलग-अलग विषयों का चित्रण किया गया। प्रतियोगिता में प्रीति ने बाजी मारी वहीं आशी और माही को दूसरे तथा तीसरे स्थान से संतोष करना पड़ा।

अग्र मैराथन में भाईचारे का संदेश

अग्रसेन जयंती समारोह में सोमवार को प्रातः अग्र मैराथन प्रतियोगिता आकर्षण का प्रमुख केंद्र रहेगी। अग्रवाल सभा के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल और सचिव प्रयाग अग्रवाल ने बताया कि बीते कई वर्षों से अग्रसेन जयंती समारोह के मौके पर अग्र मैराथन का आयोजन किया जाता है। इसका प्रमुख उद्देश्य समाज में भाईचारे और सामाजिकता की भावना को बढ़ावा देना है। इसमें समाज के सभी वर्गों के लोग एक साथ दौड़कर वर्गभेद मिटाकर देश और समाज के विकास के लिए कदम से कदम मिलाने का संदेश देते हैं। उन्होंने बताया कि इस बार भी अग्र मैराथन का आयोजन किया गया है। प्रतियोगिता सोमवार सुबह अग्रसेन भवन से प्रारंभ होगी और बीटीआई चौक पर समा'त होगी। इस बार प्रतियोगिता की सबसे खास बात यह रहेगी कि समाज के बुजुर्गों से लेकर युवा,बच्चे और महिलाएं भी इस प्रतियोगिता में भाग लेंगी। प्रतिभागियों की सुरक्षा के साथ ही यहां स्वास्थ्य सुविधा का भी इंतजाम किया गया है।