जशपुरनगर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। धान खरीदी केंद्र खोले जाने की प्रक्रिया में विलंब से नाराज किसानों ने च-ाजाम करने की चेतावनी देते हुए कलेक्टर ज्ञापन सौंपा है। नाराज किसानों ने आदिम जाति सहकारी समिति लुड़ेग के प्रबंधक पर जानकारी देने में जानबूझकर विलंब करने का आरोप लगाया है। किसानों ने इसके खिलाफ 28 सितंबर को संबंधित समिति के सामने च-ाजाम करने की बात कही है।

उल्लेखनीय है कि पत्थलगांव विकासखंड के ग्राम पंचायत काडरो के ग्रामीण गांव में ही धान खरीदी केंद्र खोले जाने की मांग कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि धान बेचने के लिए उन्हें लुड़ेग जाना पड़ता है। जो कि तकरीबन 10 किमी की दूरी पर है। टोकन सिस्टम लागू होने के बावजूद इतनी दूरी पर विक्रय के लिए धान ले जाना ग्रामीणों के लिए टेढ़ी खीर साबित होता है। इससे जहां उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है वहीं केंद्र तक धान पहुंचाने के लिए ट्रैक्टर या पिकअप या अन्य वाहन में परिवहन के लिए अनावश्यक आर्थिक भार भी वहन करना पड़ता है। इसके मद्देनजर ग्राम काडरो में धान खरीदी केंद्र खोले जाने की आवश्यकता है। इससे काडरो के साथ ही आसपास के दर्जनों गांवो के ग्रामीण लाभान्वित होंगे। ग्रामीण इसे लेकर पत्थलगांव विधायक रामपुकार सिंह,प्रभारी मंत्री और खाद्य मंत्री से भी मुलाकात कर चुके हैं। विधायक रामपुकार सिंह और प्रभारी मंत्री जहां इसकी अनुशंसा कर चुके हैं वहीं खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने हाल ही में इसकी घोषणा भी कर दी है। परंतु इसके बावजूद धान उपार्जन केंद्र की प्रक्रिया में अनावश्यक विलंब हो रहा है। ग्रामीणों का अंदेशा है कि इससे इस वर्ष धान उपार्जन केंद्र स्थापित नहीं हो सकेगा और उन्हें लुड़ेग जाकर ही धान बेचने को मजबूर होना पड़ेगा। कलेक्टर जशपुर को सौंपे ज्ञापन में ग्रामीणों का आरोप है कि सहकारी समिति मर्या लुड़ेग के प्रबंधक द्वारा इसमें जानबूझकर विलंब किया जा रहा है। उनका कहना है कि सहायक पंजीयक सहकारी संस्थाएं जशपुर छग के द्वारा प्रभारी प्रबंधक सहकारी समिति मर्या लुड़ेग को धान खरीदी केंद्र एवं नवीन आदिम जाति सेवा सहकारी समिति स्थापित करने हेतु जानकारी मंगाई गई थी किंतु प्रभारी प्रबंधक द्वारा यह जानकारी अभी तक उपलब्ध नहीं कराई गई है। जिससे नवीन आदिम जाति सेवा सहकारी समिति स्थापित करने में विलंब हो रहा है जिससे आने वाले समय में किसानों को धान विक्रय करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। इस स्थिति को देखते हुए किसानों के द्वारा प्रभारी प्रबंधक से 28 सितंबर तक जानकारी मंगाए जाने की मांग कलेक्टर से की है। उनका कहना है कि निर्धारित समयावधि तक जानकारी नहीं भेजे जाने पर 29 सितंबर को किसानों द्वारा लुड़ेग सहकारी समिति के सामने च-ाजाम करने का निर्णय लिया गया है।

----------

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local